सरकारी कर्मचारी नहीं कर रहे थे लॉकडाउन का पालन, पुलिस ने चालान काटकर दी चेतावनी

कई वाहनों के बनाए चालान, हवा भी निकाली, बैंककर्मी के पास नहीं थे रुपए तो एडीएम ने दिए उधार

By: Chandraprakash Sharma

Published: 05 Apr 2020, 05:46 PM IST

देवास। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रशासन द्वारा किए गए टोटल लॉकडाउन का जायजा लेने के लिए कलेक्टर डॉ. श्रीकांत पांडेय शनिवार सुबह शहर में निकले। प्रतिबंध के बावजूद दोपहिया-चारपहिया से घूमते पाए गए लोगों पर कार्रवाई की। कई दुपहिया वाहनों की हवा निकाली गई तो चालान भी काटा। इधर प्रसूति के लिए वाहन उपलब्धन होने की जानकारी मिलने पर कलेक्टर ने एसडीएम के वाहन से गर्भवती को जिला अस्पताल पहुंचाया।
कलेक्टर डॉ. पांडेय सहित एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी, एएसपी जगदीश डावर व अन्य अधिकारी शनिवार सुबह शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में पहुंचे। लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर दो पहिया व चार पहिया वाहन चालकों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की। एक तरफ जहां आम आदमी अपने घरों में कैद हैं, वहीं कुछ सरकारी कर्मचारी अपने ओहदे का गलत इस्तेमाल भी कर रहे हैं। इसी तरह के कुछ कर्मचारियों पर शनिवार सुबह प्रशासन ने सख्ती दिखाई। इस दौरान उज्जैन चौराहा पर कई सरकारी कर्मचारियों को रोककर उनके वाहनों का चालान बनाया गया। इनके साथ ही बैंककर्मियों के भी चालान काटे गए। बीएनपी के एक कर्मचारी ने चालान के दौरान रुपए नहीं होने की बात कही, तो मौके पर ही एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी ने उसे 2 हजार रुपये उधार दिए और चालान कटवाया। अधिकारियों ने बताया कि अपनी पोजीशन का गलत इस्तेमाल करने वाले प्रत्येक व्यक्ति पर सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा उज्जैन रोड स्थित इंडेन गैस एजेंसी पर भी प्रशासन ने कार्रवाई की। मौके पर कॅमर्शियल व घरेलू उपयोग की गैस की टंकियां पाई गई। बताया गया कि गैस एजेंसी डीलर उपभोक्ताओं को यहीं से गैस वितरित कर रहा था, जिसके कारण प्रशासन द्वारा कार्यवाही की गई। पुलिस बल ने कई दोपहिया वाहन चालकों के वाहनों की हवा निकाली।
चालानी कार्रवाई कर वसूले डेढ़ लाख से अधिक रुपए
लॉ कडाउन के दौरान बाजार में घूम रहे लोगों पर चालानी कार्रवाई करते हुए प्रशासन ने 1 लाख 8 2 हजार रुपए वसूले। स्टॉक डाटा एवं अभिलेखों का सही संधारण नहीं किए जाने पर खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा अन्नपूर्णा गैस ऐजेंसी इटावा के विरुद्ध कार्रवाई कर चार गैस सिलेंडर जब्त किए गए। आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 के प्रावधानों के अंतर्गत प्रकरण पंजीबद्ध किया। इधर जिला आयुष अधिकारी डॉ. गिर्राज बाथम की अध्यक्षता में गठित एंटी कोराना आयुष टीम देवास के मुख्य कार्यकारी सदस्य डॉ. ममता जूनवाल एवं डॉ. प्रमोद जैन के मार्गदर्शन में शासकीय होम्योपैथी औषधालय देवास से डॉ. प्रीतिबाला पाटीदार एवं डॉ. आलोक जैन द्वारा कलेक्टर कार्यालय स्थित कंट्रोल रूम देवास एवं कलेक्टोरेट परिसर में कार्यरत कर्मचारियों को आयुष मंत्रालय की एडवायजरी अनुसार कोरोना की प्रतिबंधात्मक औषधि आर्सेनिक एल्ब- 30 वितरित की गई। विभाग के कर्मचारियों द्वारा सोनकच्छ, कन्नौद, खातेगांव, टोंकखुर्द आदि विकासखंडों के ग्रामीण क्षेत्रों में घर-घर जाकर यह दवाई वितरित की गई। ५ अप्रैल को नगर निगम के समस्त कर्मचारियों/ सफाईकर्मियों को यह दवाई वितरित की जाएगी।
गर्भवती को भिजवाया एसडीएम की गाड़ी से
उज्जैन चौराहा के पास निवासरत एक गर्भवती के लिए कलेक्टर पांडेय ने सहायता दी। प्रसूता को अस्पताल जाना था और मौके पर कोई वाहन सुविधा भी नहीं थी। एक महिला ने मौके पर आकर अपनी पीड़ा चौराहे पर ही मौजूद कलेक्टर को बताई तो उन्होंने तुरंत एसडीएम अरविंद चौहान की गाड़ी भेजी और गर्भवती को अस्पताल तक भिजवाया। उन्होंने महिला के समुचित उपचार की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned