परिजन कर रहे थे अंतिम संस्कार की तैयारी, पुलिस को देख ग्रामीण भागे

शव पीएम के लिए भेजा बागली, मामले की जांच कर रही पुलिस

By: Chandraprakash Sharma

Published: 05 May 2020, 06:09 PM IST

देवास/कमलापुरा। एक महिला ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। परिजन चुपचाप ही महिला का अंतिम संस्कार करने वाले थे, इसी बीच किसी ने पुलिस को इसकी सूचना कर दी। मौके पर पुलिस पहुंची तो लोग शव को छोड़कर भाग गए। पुलिस ने मामले को जांच में लिया है व शव को पीएम के लिए बागली अस्पताल भेजा। कमलापुर के समीप ग्राम गोपीपुर में रविवार रात 8 बजे 25 वर्षीय महिला सुनीता पिता शोभाराम ने किसान बद्री गोड के खेत पर जाकर फंदा लगा लिया। महिला ने कुएं के जिस पेड़ के पास फंदा लगाया वहीं पर पूर्व में सुनीता की बहन भी फंदा लगाकर आत्महत्या कर चुकी हैं।
बताया जा रहा है कि घर में विवाद हुआ था जिसके बाद महिला घर से चली गई थी। महिला को परिजन ढूंढ रहे थे तभी महिला का शव खेत पर लटका मिला। सूचना पर ग्रामीणों की भीड़ लग गई थी। ग्रामीणों की मदद से शव को नीचे उतारा गया। सुनीता की फांसी लगाने की खबर किसी ने भी न तो थाना बागली पर दी, न ही इसकी सूचना कमलापुर चौकी के पास थी। परिजन चुपचाप ही सोमवार सुबह अंतिम संस्कार की तैयारी में लग गए थे। इसके लिए शव को ग्राम गोपीपुरा से भील आमला ले जाया गया। शव को दूसरे गांव ले जाने की सूचना किसी ग्रामीण ने इस दौरान पुलिस को कर दी। जागरूक ग्रामीण ने पहले कमलापुर चौकी प्रभारी सुरभी सिंह चौहान को सुबह 7 बजे फोन लगाया, इनके दरा फोन नहीं उठाने पर इसकी सूचना ग्रामीण ने बाद में डायल 100 को सूचना दी। सूचना पाकर डायल 100 सीधे भील आमला पहुंची। पुलिस की गाड़ी को देखकर ग्रामीण शव छोड़कर भाग खड़े हुए। पुलिस ने शव को जब्त कर बागली अस्पताल पीएम के लिएभेजा। पीएम के बाद शव परिजन के सुपुर्द किया गया। बताया जा रहा है कि अगर एक घंटा भी विलंब हो जाता तो परिजन अंतिम संस्कार कर चुके होते। हालाकि अभी तक पुलिस ने सूचना छिपाने पर किसी पर कार्रवाई नहीं करी हैं।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned