दूध वाले की पत्नी व बेटी, शांतिपुरा के वाहन चालक का पोता पॉजिटिव

शहर के 4 मरीजों में से तीन संक्रमित मरीज के परिवारों से, जिले में मरीजों की संख्या बढ़कर हुई 75, पठानकुंआ नया संक्रमित क्षेत्र, बनाया कंटेनमेंट एरिया

By: Chandraprakash Sharma

Updated: 23 May 2020, 05:56 PM IST

देवास। कोरोना वायरस संक्रमण से पीडि़त मरीजों का रोजाना ही मिलने का सिलसिला जारी है। शुक्रवार को भी पांच मरीजों की पुष्टि हुई जिसमें से चार शहर के व एक शिप्रा इंदौर जिले का निवासी है। शहर में जो चार मरीज मिले हैं उनमें से तीन ऐसे हैं जिनके परिवार का सदस्य पहले से संक्रमित है। अमोना में दूध बेचने वाले एक मरीज की पत्नी व बेटी भी पॉजिटिव निकले हैं। वहीं हॉटस्पॉट बने शांतिपुरा का एक बालक भी पॉजिटिव मिला है, कुछ दिन पहले ही उसके दादा संक्रमित हुए थे। शिप्रा वाले मरीज की जांच व उपचार देवास में चल रहा हैहालांकि उनकी गिनती इंदौर जिले की जाएगी। शहर के चार नए मरीज मिलाकर देवास जिले में अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 75 हो चुकी है। इसमें से ४२ स्वस्थ होकर डिस्चार्जहो चुके हैं जबकि ८ की मौत हो चुकी है। वर्तमान में 25 एक्टिव केस हैं।
शुक्रवार को कुल १२४ कोरोना संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट आई। इसमें से ११७ नेगेटिव निकले जबकि पांच पॉजिटिव रहे। वहीं दो मरीजों के नमूने पैथालॉजी द्वारा रिजेक्ट कर दिए गए, इनके नमूने दोबारा से भेजे जाएंगे। जो पांच पाजिटिव मरीज मिले उनमें से दो शहर के अमोना, एक-एक शांतिपुरा व पठानकुआं के हैं। वहीं एक मरीज शिप्रा इंदौर जिले से है जो शिप्रा में ही फल का ठेला लगाता था। शहर के अमोना में कुछ दिन पहले एक दूध बेचने वाला युवक कोरोना संक्रमित निकला था, उसकी २८ वर्षीय पत्नी व ९ साल की बेटी भी पॉजिटिव मिले हैं। वहीं शांतिपुरा में १३ साल का बालक संक्रमित पाया गया है, कुछ दिन पहले उसके वाहन चालक 54 वर्षीय दादा की रिपोर्टपॉजिटिव आई थी। अमोना व शांतिपुरा में पहले से ही कंटेनमेंट एरिया बने हुए हैं। यहां पॉजिटिव नए मरीजों की पुष्टि के बाद सेनेटाइजेशन, स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य, विभाग, नगर निगम की टीमें पहुंचीं। वहीं शहर का चौथा मरीज पठानकुंआ क्षेत्र में रहने वाला है। ५५ वर्षीय इस व्यक्ति के नमूने २० मई को लिए गए थे, वर्तमान में यह अमलतास अस्पताल मेें भर्ती है।इसके परिवार में करीब १२ सदस्य हैं। पठानकुंआ शहर का नया संक्रमित क्षेत्र है, ऐसे में यहां सेनेटाइजेशन, स्क्रीनिंग के साथ ही बेरेकेडिंग करके कंटेनमेंट एरिया भी बनाया गया।
33 और नमूने भेजे, कुल 96 रिपोर्ट आना शेष
स्वास्थ्य विभाग द्वारा शुक्रवार को 33 और संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं। जिले से अब तक कुल 1587 लोगों के नमूने जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। शुक्रवार को को चार मरीजों को अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। शुक्रवार को आई रिपोर्ट में दो और नमूने रिजेक्ट हुए। रिजेक्ट नमूनों की संख्या बढ़कर 18 हो गई है। वहीं शुक्रवार को एक नया कंटेनमेंट एरिया बढऩे के बाद इनकी संख्या भी 18 हो गई है। उधर अमलतास अस्पताल में भर्ती दो की जांच नेगेटिव आने के बाद शुक्रवार को इनको डिस्चार्ज कर दिया गया।
शांतिपुरा बना दूसरा बड़ा हॉटस्पॉट
कोरोना संक्रमण के शुरुआती दौर में जिले में हाटपीपल्या, शहर में रघुनाथपुरा, सुतार बाखल क्षेत्र हॉटस्पॉट के रूप में उभरकर सामने आए थे। धीरे-धीरे इन क्षेत्रों में स्थिति सुधर गई लेकिन ६ मई के बाद वासुदेवपुरा सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बनता गया। शांतिपुरा भी दूसरा बड़ा हॉटस्पॉट बन गया है जहां करीब ९-१० मरीज मिल चुके हैं। इसके अलावा अमोना व मेंढकीचक में एक-एक परिवारों में तीन-तीन मरीजों की पुष्टि हो चुकी है।

Chandraprakash Sharma Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned