टीकाकरण के बाद बिगड़ी मासूम की तबीयत, जिला अस्पताल लाते-लाते टूटी सांसें

-मामला ग्राम भैरवाखेड़ी का, परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप

By: हुसैन अली

Published: 03 Mar 2019, 12:10 PM IST

देवास टोंकखुर्द तहसील के गांव भैरवाखेड़ी में रहने वाले एक मासूम की तबीयत शनिवार को आंगनवाड़ी केंद्र में टीकाकरण के बाद बिगड़ गई। परिजन पहले उसे लेकर एक निजी अस्पताल पहुंचे लेकिन स्थिति गंभीर देखते हुए वहां से जिला अस्पताल लाया गया लेकिन तब तक मासूम की सांसें टूट चुकी थीं, डॉक्टरों ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों ने टीकाकारण में लापरवाही के कारण जान जाने का आरोप लगाया है। तीन डॉक्टरों की पैनल ने पीएम किया है और कारण का पता नहीं लग पाने के कारण बिसरा प्रिजर्व किया गया है।

ग्राम भैरवाखेड़ी में रहने वाले सुनील गोयल के चार साल के पुत्र अक्षय गोयल को शनिवार दोपहर करीब 12 .30 बजे आंगनवाड़ी केंद्र में टीका लगाया गया। टीका मीजल्स-रूबेला (एमआर) का था। इसके करीब सवा-डेढ़ घंटे बाद अचानक अक्षय की तबीयत बिगड़ी, उसकी गरदन लटकने लगी, घबराए परिजन उसे लेकर कुछ ही दूरी पर स्थित ग्राम चिड़ावद पहुंचे और वहां एक निजी डॉक्टर को दिखाया। बालक की हालत गंभीर होने के कारण डॉक्टर ने देवास ले जाने की बात कही। इसके बाद परिजन बालक को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां इमरजेंसी में तैनात डॉ. पवन पाटीदार ने जांच के बाद बालक को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन बिलख पड़े। शव को पीएम के लिए पहुंचाया गया और पुलिस सहायता केंद्र में लिखापढ़ी शुरू हुई। अक्षय के दादा विक्रम गोयल, पड़ोसी लोकेश वर्मा, रामभरोसे पटेल आदि ने टीके के कारण तबीयत बिगडऩे और जान जाने का जिक्र करते हुए टीकाकरण में लापरवाही का आरोप लगाया। जानकारी के अनुसार अक्षय के पिता सुनील वाहन चलाते हैं, अक्षय का एक बड़ा भाई है। घटना की जानकारी मिलने के बाद देवास एसडीएम जीवनङ्क्षसह रजक भी जिला अस्पताल पहुंचे और परिजनों व डॉक्टरों से चर्चा की। शाम को पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

करीब आधा-पौन घंटे पहले हो चुकी थी मौत

जब बालक को जिला अस्पताल लाया गया था तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। अस्पताल लाने से करीब आधे-पौन घंटे पहले मौत हुई होगी। मौत का कारण स्पष्ट नहीं है। पीएम तीन डॉक्टरों की पैनल द्वारा किया गया है।
-डॉ. पवन पाटीदार, ड्यूटी डॉक्टर जिला अस्पताल।

छूटे बच्चों में शामिल था अक्षय
छूटे हुए बच्चों को एमआर टीका लगाया जा रहा है। अक्षय के साथ ही एक अन्य बच्चे का भी टीकाकरण किया गया था, वो पूरी तरह से स्वस्थ्य है। ऐसे में मौत का कारण क्या है, कुछ कहा नहीं जा सकता।
-सुनीता यादव, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग देवास।

बिसरा प्रिजर्व किया गया है
बच्चे की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो रहा है। इस स्थिति में डॉक्टरों द्वारा बिसरा प्रिजर्व किया गया है। जांच के लिए पुलिस के माध्यम से भिजवाया जा रहा है।
-जीवनसिंह रजक, एसडीएम देवास।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned