क्षेत्र के आक्रोशित किसानों ने पंजीयन की मांग को लेकर सौंपा आवेदन

उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

By: हुसैन अली

Published: 03 Mar 2019, 12:24 PM IST

कांटाफोड. बालकृष्ण शर्मा
शनिवार को क्षेत्र के किसान थाना परिसर मे एकत्रित हुए । यहां पर किसानों ने नारेबाजी करते हुए सतवास राजस्व निरीक्षक धुर्वे को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम आवेदन सौंपा। वाचन रामेश्वर शर्मा ने किया। किसानों द्वारा उपार्जित गेहूं व चने का पंजीयन केंद्र शुरू कराने की मांग की गई।

यह जानकारी देते हुए रामेश्वर शर्मा सत्यनारायण तिवारी ने बताया कि क्षेत्र के किसानों द्वारा उपार्जित गेहूं व चने की फसलें किसानों द्वारा उपार्जित कर अपने घरों में रख ली गई है। किंतु शासन की मंशानुरूप समर्थन मूल्य पर फसल विक्रय करने में आ रही परेशानियों के संबंध में आवेदन सौंपा गया है। मुकेश राठौर ,मुकेश चौबे ने कहा कि सहकारी समितियों द्वारा किसानों का पंजीयन नहीं करने से क्षेत्र के किसानों में रोष व्याप्त है। इस संबंध में जब किसानों द्वारा जिले के अधिकारियों से क्षेत्र की सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से किसानों का पंजीयन कराने की बात कही गई तब पता चला कि क्षेत्र की सोसायटियां खरीदी करने तथा किसानों के पंजीयन करने के लिए अपात्र घोषित कर दी गई है। क्षेत्र की सेवा सहकारी संस्थाओं मे किसानों का पंजीयन नहीं होने से अन्नदाता परेशान है। किसान कमल पटेल ,कमल सिसोडिया ,किरण रत्नपारखी ने बताया कि पंजीयन के लिए किसानों को इधर उधर भटकना पड रहा है। क्षेत्र की सेवा सहकारी समितियों द्वारा हमारे क्षेत्र के किसानों का पंजीयन कराने की व्यवस्था अतिशीघ्र की जाकर पंजीयन की तिथि को बढाने का कष्ट करे जिससे क्षेत्र के किसानों को शासन की समर्थन मूल्य खरीदी में अपनी फसलों को विक्रय करने की पात्रता मिल सके।

थाना परिसर में उपस्थित किसानों ने कहा कि शासन स्तर पर किसानों की पंजीयन संबंधित समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जाए। उन्होंने बताया कि क्षेत्र के किसानों को न्याय दिलाने की मांग प्रदेश के मुखिया से की गई है। क्षेत्र की सेवा सहकारी संस्थाओं मे पंजीयन नहीं होने से किसान आक्रोशित है किसानों ने थाना परिसर मे नारेबाजी करते हुए आवेदन देने के दौरान राजस्व निरीक्षक से कहा कि हमारी समस्या का निराकरण जल्द ही नहीं किया गया तो हमें उग्र आंदोलन लिए बाध्य होना पडेगा जिसकी समस्त जवाबदेही शासन प्रशासन की रहेगी। किसान ब्रजमोहन तिवारी ,रजाक खान ,रमेश यादव ,बलराम राठौर ,गोपाल बैरागी ,मनीष बियाणी ,गोपाल पटेल ,मदन मालवीया सहित बडी संख्या में किसान मौजूद थे।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned