ये क्या डाक्टर की मौत में आया नया मोड

- अर्थी उठने से पहले घर पर और श्मशान में अंतिम संस्कार के दौरान हंगामा

देवास. महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. सुनीता गुप्ता की आत्महत्या मामले में गुरुवार को नया मोड आ गया है। मृतका की मां व भाई ने सास, ससुर व ननद पर प्रताडऩा का आरोप लगाते हुए आवेदन दिया है। अत्1महत्या वाले दिन मृतिका के मायके वाले नीमच से रात में पहुंचे थे और शहर के प्रसिद्ध डॉक्टर चेतन गुप्ता के घर पर रात में ही बहस भी की थी। महिलाओं ने आरोप लगाया था कि हमारी बेटी से विवाद किया इसलिए वह दुनिया से चली गई है। रात में ही कोतवाली टीआई महेंद्रसिंह परमार ने डॉ. चेतन गुप्ता को बयान के लिए बुलाया भी था। रात में बहस करने के बाद मृतका के मायके वाले देवास की बजाय इंदौर में रात रूके और गुरुवार को देवास पहुंचे। पीएम रूम से सुबह डॉ. सनीता का शव घर ले जाया गया।
अर्थी उठने से पहले मृतका की बहनें और मायके वाली महिलाएं विलाप करते हुए कह रही थी कि बता तुझे क्या परेशानी थी कि इस तरह का कदम उठाया। बहन तेरे साथ अच्छा नहीं हुआ है। अर्थी अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट पहुंची जहां पर मृतका को मुखग्री देते समय विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी। बताया जाता है कि मृतका का देवर मुखग्री देने लगा तो मायके वालों ने आपत्ति दर्ज करवाई कि मुखग्नी हम देंगे। इस बात को लेकर काफी हंगामा भी हुआ, जिसकी सूचना किसी ने कोतवाली पुलिस को कर दी। कोतवाली से एसआई मानसिंह बल के साथ श्मशान पहुंचे थे। एसआई मानसिंह ने बताया, हम पहुंचे तो किसी भी प्रकार का विवाद नहीं हो रहा था। समाज के वरिष्ठजनों के कहने पर मुखग्री पति चेतन गुप्ता के द्वारा दी गई। डॉ. सुनीता की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु होने पर शहर में चर्चा का विषय बना हुआ है, क्योंकि सुनीता का व्यवहार आमजनों से बहुत ही विनम्र था।
विसरा भेजेंगे महू प्रयोगशाला में
डॉक्टर की संदिग्ध अवस्था में मृत्यु होने पर बुधवार को पीएम रूम में एफएसएल अधिकारी डॉ. सुचिता पांडेय, नायब तहसीलदार पुनम तोमर की उपस्थिति में पंचनामा बनाया गया था। पंचनाम बनाने के बाद निर्णय लिया था कि विसरा जांच के लिए भेजा जाएगा। जांच के लिए विसरा ले लिया गया है, जिसे महू के झुमर घाट स्थित प्रयोगशाला में भेजा जाएगा। विसरा व पीएम जांच रिपोर्ट आने के बाद मौत का खुलासा हो सकेगा। जांचकर्ता एसआई शहनाज खान ने बताया, जांच के लिए विसरा अधिकारियों के निर्देश पर प्रयोगशाला में भेजा जाएगा।
आवेदन में लगाए आरोप
एसपी के नाम दिए आवदेन में मृतिका डॉ सुनीता गुप्ता की मां शांति देवी मित्तल और भाई प्रवीण मित्तल ने आरोप लगाते हुए लिखा है कि डॉ सुनीता साढ़े 9 से 10 के बीच विनायक हॉस्पिटल में मरीजों को देखने के बाद घर चली गईं थीं। उसके एक घंटे बाद घर के नौकर ने जब उन्हें मृत अवस्था में देखा तो पति डॉक्टर चेतन गुप्ता खुद के वाहन से उन्हें विनायक हॉस्पिटल ले गए और वहा पर वेंटीलेटर पर रखा गया। घटना के तुरंत बाद मायके पक्ष को सूचना तक नहीं दी गई।
आवेदन में लिखा जब भी डॉ सुनीता अपनी मां भाई व् बहनों से फ़ोन पर बात करती थी तो बताती थी की उन्हें उनके सास ससुर और ननद प्रताडि़त करते हैं। यही नहीं डॉ सुनीता द्वारा स्वअर्जित संपत्ति भी उनके नाम करने का दबाव बनाते थे। इस विषय में मायके पक्ष के लोग समझाईश के लिए आने वाले थे लेकिन प्रताडऩा और बढ़ गई जिससे डॉ सुनीता ने मायके वालों को आने से मना कर दिया। जब डॉ चेतन गुप्ता विदेश से लौटे तब इस विषय में बातचीत की जाना थी लेकिन अचानक डॉ सुनीता की मौत की खबर आ गई। पुत्री गंभीर और धैर्यवान थी जिस पर इस तरह से चले जाने की कल्पना भी नहीं की जा सकती। परिजनों का आरोप है की डॉ सुनीता की मृत्यु संदिग्ध परिस्थितियों में हुई हैए जिसमे अस्पताल में उपलब्ध चिकित्सा साधनों का उपयोग किया गया है। या फिर उसे इतना प्रताडि़त किया गया की वह काल के गाल में समां जाने के लिए उत्प्रेरिक हुई। सुनीता दैनिक रूप से व्यक्तिगत कार्यों को डायरी में लिखती थी जिसे जप्त कर मौत से सम्बंधित दस्तावेज मिल सकते हैं।
परिजनों ने आवेदन में लिखा है की घटना होने के बाद शाम 4 बजे तक घटनास्थल सील नहीं किया गया था और न की डॉ सुनीता का मोबाइल जप्त किया गया था। परिजनों ने लिखा है की मृतिका के पति डॉ चेतन गुप्ता एक प्रभावशाली डॉक्टर है और मुख्य चिकित्सा अधिकारी से उनके पारिवारिक संबंध है। इस वजह से पोस्टमार्टम रिपोर्ट को प्रभावित किए जाने की सम्भावना से इंकार नहीं किया जा सकता। आवेदन में निष्पक्ष जांच कर दोषियों को गिरफ्तार कर न्याय दिलाने की मांग की गई है।
मायके वाले पक्ष की तरफ से मृतका की मां ने आवेदन दिया है, जिसमें सास के द्वारा परेशान करने की बात सामने आ रही है। आवेदन पर जांच की जा रही है।
महेंद्रसिंह परमार, टीआई कोतवाली देवास।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned