तेंदुए के मुह का निवाला बनते -बनते बचा ये शख्स

तेंदुए के मुह का निवाला बनते -बनते बचा ये शख्स

Hussain Ali | Updated: 12 Jun 2019, 06:11:31 PM (IST) Dewas, Dewas, Madhya Pradesh, India

खातेगांव क्षेत्र में हुई घटना : साथी ने चिल्लाकर व पत्थर मारकर भगाया तेंदुए को

देवास/खातेगांव. तेंदुए के हमले में एक युवक बाल-बाल बच गया। सुबह के समय निकला ग्रामीण युवक तेंदुए का शिकार बनने से बच गया। बाद में युवक का इलाज खातेगांव के अस्पताल में कराया गया, जो खतरे के बाहर है।
मंगलवार सुबह ग्राम मालागांव के निवासी मंगल पिता गोपाल धुर्वे (26 ) सुबह खेत में जा रहे थे, उसी समय एक तेंदुए ने पीछे से हमला कर दिया। तेंदुए के हमले से ग्रामीण एक समय तो घबरा गया लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी। ग्रामीण के साथी ने मजरा देखकर चिल्लान शुरू कर दिया। वहीं तेंदुए के हमले से संभलते हुए मंगल धुर्वे ने पत्थर और मिट्टी उठाकर तेंदुए को मारना शुरू किया। जवाबी हमला होने पर तेंदुआ वहां से भाग निकला। तेंदुए ने मंगल के पीठ और पेट पर पंजे से वार किया। मंगल के शरीर पर तेंदुए के नाखून के निशान दिखाई दे रहे थे। तेंदुए के हमले के बाद मंगल खातेगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचा। मंगल ने जान बचने पर ईश्वर का आभार माना।

must read : पुलिस की लापरवाही से नौ दिन गड़ा रहा युवक का शव, खुलासा होते ही 24 घंटे में पकड़ाया आरोपी

दहशत में ग्रामीण

खूबगांव के ग्रामीण नर्मदा प्रसाद बताते है कि अफजल शेख तेंदुए का शिकार होते-होते बच गए। तेंदुए का गांव में होने से ग्रामीणों में दहशत है, ग्रामीणों ने वन विभाग के अधिकारियों को सूचना दी। उधर मालागांव सरपंच कमलेश दीक्षित अपने पंचायत क्षेत्र के ग्राम माला गांव के निवासी मंगल को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र खातेगांव पहुंचे और मंगल का इलाज कराया, जहां पर वन विभाग के कर्मचारी अधिकारी भी पहुंचे थे।

पानी की व्यवस्था नहीं, भटक रहे वन्य प्राणी

ग्रामीण क्षेत्रों में नदी नाले पूरी तरह से सूख चुके है। ग्रामीण क्षेत्र में नदी नाले से अवैध रूप से रेत और पत्थर निकाले जा रहे हैं। नदी नाले सूखने के कारण वन्य प्राणियों को जीवन यापन करने के लिए पीने के पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है, पीने के पानी की तलाश में जंगलों से पानी की तलाश में अब गांव की ओर रुख कर रहे हैं और लोगों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। तीन दिन पहले ही नेमावर क्षेत्र में एक भालू दिखाई दिया था।

must read : कलेक्टर के अफसरों को सख्त निर्देश, बोले- अब सीएम हेल्प लाइन पर करो फोकस

तेंदुआ पुलिया के पास से भाग निकला

पत्थर से हमला होने व दोनों के चिल्लाने के बाद तेंदुआ पुलिया के पास से भाग निकला। तेंदुआ मालागांव से खूबगांव जा पहुंचा। जहां खूबगांव नाले में तेंदुआ जाकर छूप गया। खूबगांव के ग्रामीण अफजल शेख बताते हैं कि सुबह 6 .40 पर अपनी बाइक से खेत के लिए जा रहा था। रास्ते में नाले के पास छुपकर बैठे तेंदुए ने मुझ देखते ही दहाड़ लगाना शुरू कर दी। अफजल ने बताया कि जैसे ही मैने तेंदुए की दहाड़ सुनी अपनी बाइक को तेजी से भगाना शुरू कर दिया, जिसके बाद तेंदुआ वहां से दहाड़ता हुआ भाग निकला। अफजल बताते है कि हड़बड़ी के चलते मैं नाले के करीब गिर गया था। नाले में रेत से भी फिसलन हो रही थी लेकिन संयोग से तेंदुए ने मुझ पर हमला नहीं किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned