ओपीडी का समय अभी नहीं बदला, कुछ मरीज नए समय पर पहुंचे तो नहीं मिले डॉक्टर

ओपीडी का समय अभी नहीं बदला, कुछ मरीज नए समय पर पहुंचे तो नहीं मिले डॉक्टर
dewas

Amit S mandloi | Updated: 04 Jun 2019, 12:18:37 PM (IST) Dewas, Dewas, Madhya Pradesh, India

- जिला अस्पताल के कई डॉक्टर करते निजी प्रेक्टिस

देवास. जिला अस्पताल में शासन के आदेशानुसार समय का बदलाव अभी नहीं किया गया है। शासन के नए आदेश के बाद ओपीडी का समय सुबह 9 से शाम 4.30 बजे तक का कर दिया गया है। जिला अस्पताल में सिविस सर्जन सहित अन्य सभी डॉक्टर भी निजी प्रेक्टिस करते है। ऐसे में समय का बदलाव सभी को तनाव दे रहा है। इस संबंध में सिविल सर्जन डॉ. आरके सक्सेना से बात करनी चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। जिला अस्पताल में ओपीडी के समय औसतन 700 से 1100 मरीज हर दिन आते है।

अभी तक दोपहर 1 बजे तक का ही ओपीडी समय होने से अधिकांश मरीज डॉक्टर को दिखा नहीं पाते थे, साथ ही उन्हें नंबर लगाने के लिए सुबह जल्दी भी आना पड़ता था। जिला अस्पताल में सोमवार को दोपहर 2.30 बजे जिला अस्पताल में कोई भी डॉक्टर मौजूद नहीं मिला। डॉक्टरों के केबिन खुले थे लेकिन वहां पर डॉक्टर मौजूद नहीं थे। पंखे, कूलर भी डॉक्टर चालू छोड़ गए थे। नए समय की जानकारी मिलने पर कुछ मरीज पहुंचे जरूर थे लेकिन उन्हें डॉक्टर नहीं मिले।

 

ओपीडी के समय का आदेश आज से ही अमल में आ जाएगा। शासन का आदेश आ गया है।
डॉ. विजयकुमार, सीएमएचओ
स्वास्थ्य विभाग देवास।

dewas
patrika IMAGE CREDIT: patrika

निजी प्रेक्टिस का समय गड़बड़ा रहा

जिला अस्पताल के अधिकांंश डॉक्टर निजी प्रेक्टिस करते है। दोपहर 1 बजे के पहले ही कई डॉक्टर तो निजी प्रेक्टिस की चिंता में घर चले जाते थे, ऐसे में शासन का नया आदेश डॉक्टरों को खासा तनाव दे रहा है, उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि निजी प्रेक्टिस व अपनी नौकरी में कैसे सामांजस्य बिठाए। कई मरीजों को तो डॉक्टर घर पर इलाज का परामर्श देने से भी नहीं चुकते है। इस पर कई बार विवाद की स्थिति भी बनी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned