शुरू होंगे विकास कार्य, विभाग निकालेंगे टेंडर

शुरू होंगे विकास कार्य, विभाग निकालेंगे टेंडर
dewas

Amit S mandloi | Updated: 27 May 2019, 11:08:00 AM (IST) Dewas, Dewas, Madhya Pradesh, India

- आचार संहिता के चलते बंद पड़े थे विकास कार्य

देवास. आचार संहिता के चलते सरकारी विभाग नए कामों के टेंडर नहीं निकाल पा रहे थे। इसके चलते पिछले दो माह से विकास कार्य पूरी तरह से ठप हो गए थे। प्रशासन ने पूरी ताकत चुनाव कार्य में झोंक दी थी। सभी विभागों को प्रशासन ने अधिक से अधिक मतदान के काम में लगा दिया था। प्रशासन की ये मेहनत अधिक मतदान के रूप में नजर भी आई। अब बारिश से पूर्व कई विकास कार्यों को तेज गति देना भी एक चुनौती के रूप में विभागों के सामने होगा। चुनाव खत्म होने के बाद सरकारी विभागों के काम फिर से पटरी पर लोट आएंगे। जिले में राज्य बीमारी सहायता राशि को छोड़कर सभी कामों पर मार्च से रोक लगी थी। जिसमें जनसुनवाई, सीएम हेल्पलाइन, जनसुविधा केंद्र, समाधान योजना के साथ ही नए काम स्वीकृत करने, सहायता राशि, चेक वितरण, प्रधानमंत्री आवास, उज्जावला योजना के तहत गैस कनेक्शन देने के साथ ही नई पेंशन स्वीकृत करने सहित अन्य ऐसे काम प्रतिबंधित थे, जो सीधे व्यक्ति विशेष को लाभ पहुंचा रहे थे। आचार संहिता के चलते पिछले माह से तो जिले के विकास कार्य ठप पड़ गए थे। आचार संहिता में वे ही काम जारी थे जो जरूरी थे और जिनकी स्वीकृति पहले से हो गई थी।

अब आचार संहिता हटते ही मनरेगा जैसी योजनाओं के साथ ही अन्य विभागों के विकास कार्य शुरू होंगे। बारिश का मौसम करीब है, इसे देखते हुए आपदा प्रबंधन पर सोमवार को होने वाली टीएल बैठक में विशेष चर्चा होगी व जिले में बाढ़ के हालत से निपटने के लिए विशेष तैयारी होगी। जिले में आचार संहिता के चलते सड़क, तालाब, विद्युतीकरण सहित अन्य योजनाओं के काम भी अटके थे, अब इन योजनाओं के अंर्तगत नए काम स्वीकृत होंगे। इसके लिए सभी विभागों के नए प्लान पर भी प्रशासन चर्चा कर स्वीकृति देगा। ऐसे सभी नए कामों पर चर्चा अब टीएल बैठक में सोमवार को होगी। कलेक्टर ने सभी विभाग प्रमुखों को इसकी तैयारी कर आने को कहा है। टीएल बैठक भी आचार संहिता खत्म होने के बाद आज सोमवार को आयोजित होगी।

फिर शुरू होगी जनसुनवाई

आचार संहिता के चलते करीब करीब सवा दो माह तक जनसुनवाई, सीएम हेल्पलाइन, जनसुविधा केंद्र, समाधान एक दिन जैसे कई काम ठप पड़े थे। आचार संहिता के खत्म होने के बाद सबसे ज्यादा लाभ प्रधानमंत्री आवास से लाभान्वित होने वाले लोगों को मिलेगा, जिले में आवास के काम आचार संहिता के चलते अटक गए थे। जहां एक ओर लोगों को योजनाओं का लाभ मिलना शुरू हो जाएगा वहीं मंगलवार को तीन महीने बाद फिर से जनसुनवाई शुरू होगी। इसके साथ ही लोग अपनी समस्याओं को सीएम हेल्पलाइन पर दर्ज करा सकेंगे। निर्माण व विकास कार्यों के लिए विभाग टेंडर प्रक्रिया शुरू कर सकेंगे। नवनिर्मित भवनों के लोकार्पण का काम भी अगले सप्ताह से शुरू हो सकेगा। मार्च में आचार संहिता लागू किए जाने के बाद से प्रशासन ने जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन पर रोक लगा दी थी, इसके साथ ही नए विकास कार्यों की शुरूआत भी नहीं हो पा रही थी। इसके चलते कई लोग परेशान थे। अब आज से पहले की भांति सभी कार्य शुरू हो जाएंगे। इससे जरूरतमंदों को लाभ मिलेगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू होंगे काम

आचार संहिता के चलते मनरेगा में होने वाले काम भी बंद थे। मनरेगा के काम बंद रहने से ग्रामीण क्षेत्रों के विकास कार्य प्रभावित हो रहे थे। आचार संहिता खत्म होने के बाद अब गांवों के कामों में भी तेजी आएगी। जिले में जल संसाधन विभाग, लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी विभाग, पीएचई सहित अन्य विभागों के निर्माण कार्य के दर्जनों अटके टेंडर भी निकाले जाएंगे। इसके साथ ही जिले की नगरीय निकाय में भी पेयजल, स्ट्रीट लाइट, सड़क, नाली सहित अन्य कामों की शुरूआत की जाएगी। ताकि लोगों को असुविधाओं का सामना नहीं करना पड़े।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned