सुबह एसपी ने हेलमेट पहन दिया संदेश दोपहर में स्टाफ ही नहीं कर पाया पालन

सुबह एसपी ने हेलमेट पहन दिया संदेश दोपहर में स्टाफ ही नहीं कर पाया पालन

amit mandloi | Publish: Sep, 05 2018 11:31:12 AM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

-शहर में नियमों की उड़ती है धज्जियां, तेज गति से चलने वाले वाहनों पर ध्यान नहीं

देवास.
मंगलवार की सुबह यातायात जागरूकता रैली निकाली। रैली में पुलिस अधीक्षक, कलेक्टर ने हेलमेट पहनकर रैली निकाली। इसके बाद भी स्टाफ के अधिकारी और जवान बिना हेलमेट पहनकर सड़कों से सरपट वाहन निकालते रहे।

शहर की यातायात व्यवस्था बदहाल हो चुकी है। इसे सुधार के लिए पुलिस ने कोई प्रयास नहीं किया है। मंगलवार को सड़क सुरक्षा को लेकर रैली निकाली। हालांकि रैली में शामिल सभी लोग वाहनों पर हेलमेट लगाकर निकले थे, लेकिन पुलिस महकमे में ही हेलमेट को लेकर जागरूकता नहीं है। जिसके चलते कई पुलिस कर्मी मंगलवार की दोपहर में ही बिना हेलमेट पहनकर चलते दिखे।

परेशानी - 1

अधिकारी और चीता-शेरा नहीं कर पाए पालन
सुबह आयोजन में सभी ने हेलमेट पहनकर वाहन चलाने की शपथ ली थी। सोश्यल मीडिया पर हेलमेट चलाते हुए वाहनों को चलाते हुए वीडियो, फोटो जमकर शेयर किए थे। इसका पालन किस हद तक हुआ, ये पत्रिका ने जानने के लिए शहर की सैर की। ये जागरूकता चंद घंटों में खत्म हो गई। पुलिस के आला अधिकारी से लेकर क्राईम सीन पर तत्काल पहुंचने वाले चीता-शेरा के जवान बिना हेलमेट दौड़ते नजर आए।

परेशानी - दो

सरकारी सड़क पर पार्किंग कोई कार्रवाई नहीं
नगर की यातायात व्यवस्था को सुचारू करने की कोई पहल नहीं की गई है। नगर की कई व्यावसायिक इमारतों में पार्किंग का अभाव है, जिसके चलते एबी रोड स्थित इन काम्प्लेक्सों मेंं आने वाले वाहन सड़क पर पार्क कर दिए जाते है। कलेक्टे्रट कार्यालय में आने वाले लोग मात्र चंद रुपए बचाने के चक्कर में कार्यालय की दीवार (एबी रोड) स्थित पर अपना वाहन पार्क करके चले जाते है।

परेशानी - तीन
नहीं कस पा रहे बसों और मैजिकों पर लगाम

जागरूकता तो सभी को दे रहे है। अगर गलत स्थान पर वाहन पार्क हो रहे है तो मैं हम कार्रवाई करेंगे।
किरण शर्मा, डीएसपी ट्राफिक

अपडाउनर्स ने सिटी बसों के अलावा बसों के स्टाफ को लेकर भी कई मांगें रखी थी, लेकिन आज तक इस पर अमल नहीं हुआ है। बसों में आज भी यात्रियों से अभद्रता की जाती है। हेल्प लाईन नंबर तक नहीं लिखे गए है। इतना ही नहीं मैजिकों में क्षमता से अधिक सवारियां बैठाई जाती है, लेकिन इन पर कोई कार्रवाई नहीं होती है।

dewas
patrika IMAGE CREDIT: patrika
Ad Block is Banned