इधर दिला रहे थे शपथ, उधर खुलेआम तोड रहे थे नियम

इधर दिला रहे थे शपथ, उधर खुलेआम तोड रहे थे नियम

Amit S. Mandloi | Publish: Sep, 09 2018 11:52:59 AM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

- नेताओं के दबाव के चलते यातायात पुलिस नहीं कर पा रही है ठोस कार्रवाई

देवास.
दोपहिया वाहन की संरचना दो व्यक्तियों के लिए की गई है। उस पर दो अधिक व्यक्तिों के बैठने से संतुलन बिगड सकता है। ये पर्चे सयाजी द्वार पर यातायात पुलिस द्वारा बांटे जा रहे थे। उधर यातायात अमले के सामने ही लोग नियम तोड़कर जा रहे थे। अमला हस्ताक्षर अभियान के फोटो सेशन में लगा हुआ था।
नगर में कागजी तौर पर यातायात पखवाडा चल रहा है। यातायात पुलिस ठोस कार्रवाई नहीं कर पाती है। जब यातायात अमला कार्रवाई करने के लिए निकलता है, तो नेताओं के दबाव आ जाते है, जिसके चलते कार्रवाई ठंडी पडी जाती है। नेताओं के दबाव के कारण पुलिस फ्री हैंड होकर कार्रवाई नहीं कर पा रही है, जिसके चलते ट्राफिक व्यवस्था दिनों-दिन बिगड रही है। पखवाडे के तहत शनिवार को सयाजी गेट पर हस्ताक्षर और जागरूकता अभियान शुरू किया गया। इस दौरान समाजसेवी संस्था भागोदय क्रियेटिव एक्टिवीटी संस्था की मनीषा बापना की ओर से जागरूकता के पर्चे बांटे जा रहे है। इस अभियान में बापना की टीम ने हिस्सा लिया। टीम की सदस्य हर आने-जाने वाले को यातायात के नियम का पालन करने की बात कह रही थी। वहीं हस्ताक्षर कराकर नियम में चलने की बात कही जा रही थी।

उधर टूटते रहे नियम

सयाजी गेट पर अभियान चल रहा था। पुलिस का ध्यान सिर्फ पर्चे बांटकर अभियान को कागजों में सजाने पर था। पुलिस के सामने ही मोटरसाइकिल पर तीन सवारी, मैजिक में ओवरलोड,बसों के दरवाजे पर आधे लटके कंडक्टर सरेआम गुजरे लेकिन इन्हें रोका तक नहीं गया। हालांकि पुलिस कार्रवाई करती है, लेकिन जैसे ही किसी मोटरसाइकिल को नियम विरूद्ध चलने पर रोका जाता है,तो वह सबसे पहले जेब फोन निकालकर सीधे नेताओं के नंबर पर काल करके बात कराने की धौंस जमाता है। पुलिस को फोन पर नेता नियम तोडने वाले को छोडने की बात कह देते है,जिसके चलते पुलिस को दबाव में काम करना पड रहा है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned