म्हारे चश्मो दिलाई दो...और खेलने लगता है रोशन

म्हारे चश्मो दिलाई दो...और खेलने लगता है रोशन

Arjun Richhariya | Publish: Mar, 14 2018 12:59:32 PM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

कैसे गिरा पूछने पर मुस्कराता है, दिन भर मिलने आने वालों का लगा रहता है तांता

खातेगांव. जितेंद्र मौर्य
36 घंटे मौत से संघर्ष करने के बाद उमरिया के खेत से रोशन जीवित निकला था। रोशन का इलाज खातेगांव के निजी अस्पताल में चल रहा है। उसे जब लोग देखने पहुंच रहे है तो वह अपनी नटखट शैतानियों से खूब हंसा रहा है।
मंगलवार को कुछ समाजसेवी लोग पहुंचे। निजी कैमरे लगाकर रोशन की हरकतों पर नजर रखने वाले शशिकांत खंडेलवाल मंगलवार को मिलने पहुंचे। जब समाजसेवियों ने रोशन से पूछा कि गिरा कैसे था, तो वह हंसने लग गया। फिर पूछा कि तुझे क्या चाहिए तो वह तपाक से बोला कि म्हारे चश्मो लई दो... जिस पर युवकों ने जब अपना चश्मा निकालकर उसे दिया तो रोशन आंखों पर चश्मा चढ़ाकर इठलाता रहा।
उमरिया के खेत से बोरवेल से निकला रोशन धीरे.धीरे अपने सामान्य अवस्था में आने लगा है । डॉक्टर ने भी अब उसे सामान्य भोजन देने के लिए परिजनों को बता दिया है वही रोशन पहले की तरह सक्रिय होता नजर आ रहा है । वह पूरे अस्पताल परिसर में दौड़.दौड़कर छोटे से ट्रक के साथ खेल रहा है कभी पास ही लगे नल के पास जाकर नल का पानी चालू करता है बंद करता है कभी पानी पीने लग जाता है कभी अपने ट्रक पर पानी डालता है उसकी नटखट शैतानियां देखने के लिए आसपास क्षेत्र से बड़ी संख्या में लोग आ रहे हैं कोई उसे बिस्किट देता है चॉकलेट देता है या कोई अन्य खाने का सामान लेता है तो वह अपनी मां को दे देता है और उसे खोलने को कहता है । उसे आइसक्रीम बहुत पसंद है हालांकि वह किसी से बात नहीं कर रहा है बस अपनी मां से कहता है मुझे आइसक्रीम खानी है मुझे कचौडिय़ां खानी है मुझे बैलून चाहिए । डॉ के अनुसार रोशन को कॉन्स्टिपेशन की शिकायत हो रही है पेट में हल्का दर्द भी है जांच के बाद डॉक्टर धर्मपाल ने रोशन को बत्ती लगाई जिससे वह शौचालय जा सके लेकिन रोशन को शौच आने के बाद भी शौचालय से बैठने में मना कर रहा है । वह बार.बार अपनी मां से कह रहा है खेत में चल । काफी प्रयास करने के बाद भी जब रोशन शौचालय में नहीं गया तब हॉस्पिटल के बगल में ही कच्ची जगह पर पेड़ पौधे लगे थे वहां पर उसे बैठाया गया। रोशन वहां शौच के लिए गया। वह अपनी मां से घर चलने की जिद बार.बार कर रहा है । डॉक्टर धर्मपाल वैद्य का कहना है कि बच्चा अब स्वस्थ हो चुका है एवं प्रशासनिक खानापूर्ति के बाद उन्हें डिस्चार्ज बुधवार को किया जाएगा इस संदर्भ में अनुभागीय अधिकारी जीवन रजक दिन में तीन से चार बार अस्पताल में जाकर रोशन का हाल.चाल डॉक्टर से जाना और कुछ जरूरी सुरक्षा संबंधी निर्देश दिए वहीं दूसरी ओर खेत मालिक के खिलाफ खातेगांव पुलिस ने गिरफ्तार किया खातेगांव थाना प्रभारी ने तहजीब काजी ने जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया । जहां 20 मार्च तक न्यायिक हिरासत में न्यायालय ने जेल भेज दिया ।

Ad Block is Banned