एक बारिश के बाद पैदल चलना भी होगा मुश्किल

एक बारिश के बाद पैदल चलना भी होगा मुश्किल
dewas

Amit S mandloi | Updated: 27 May 2019, 11:01:03 AM (IST) Dewas, Dewas, Madhya Pradesh, India

- सीवरेज में खुदी सड़कों का अभी तक नहीं हुआ निर्माण

देवास. सीवरेज निर्माण के बाद जो सड़कें खोदी गई थी, उनमें से कई सड़कों का निर्माण अभी तक नहीं किया गया है। कई वार्डों में सीवरेज का काम विधानसभा चुनाव के पहले ही पूरा हो गया था, लेकिन सड़क का निर्माण अभी तक नहीं किया गया। कई जगह तो कच्ची सड़क की हालत ये है कि एक बारिश में ही सड़क कई जगह से धंस जाएगी। ऐसे में इन वार्डों के रहवासियों में भी चिंता है कि बारिश के मौसम में सड़क पर कैसे चलेंगे। ये चिंता वार्ड के पार्षदों को भी सता रही है उनका कहना है कि अगर सड़क पर बारिश के मौसम में चलना मुश्किल होगा तो लोग उन पर तोहमत लगाएंगे। इस वर्ष फिर से नगर निगम के चुनाव भी आ रहे हैं। बारिश की खराब सड़क पार्षदों को अगले चुनाव में भी मुश्किल में डाल सकती है।

वार्ड 17: एक भी सड़क का निर्माण नहीं

वार्ड 17 में भी सीवरेज का काम विधानसभा चुनाव के पहले ही पूरा हो गया था। वार्ड के लोगों को उम्मीद थी कि बारिश के पूर्व या तो सड़क का निर्माण हो जाएगा या फिर कच्ची सड़क को चलने लायक बनाने के लिए उस पर मुरम डलवा दी जाएगी। पिछले दिनों हुई बारिश में ही सड़कें चलने लायक नहीं बची थी। वार्ड के रहवासियों को चिंता है कि एक बारिश के बाद ही सड़कों की हालत खराब हो जाएगी। खराब सड़कें बारिश में धंस जाएगी, जिसमें वाहन से निकलना तो दूर पैदल चलना ही मुश्किल रहेगा। वार्ड 17 के पार्षद इरफान अली से इस संबंध में चर्चा के लिए लगातार फोन लगाया गया लेकिन उनका फोन बंद आता रहा।
वार्ड 20 : मुख्य सड़क अब भी वैसी ही
वार्ड 20 के अंतर्गत विकास नगर के मुख्य मार्ग से लगी सड़क का निर्माण नहीं करते हुए ठेकेदार ने उसे ऐसे ही छोड़ दिया था, परेशान लोगों ने आचार संहिता में ही टैंट लगाकर धरना प्रदर्शन किया था। धरना प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे वार्ड पार्षद के पुत्र अजय तोमर पर पुलिस ने आचार संहिता उल्लंघन का प्रकरण भी दर्ज किया था। वहीं इस सड़क को लेकर राजनीति भी गर्माई थी। विधायक गायत्री राजे पवार ने इसे लेकर निगम अधिकारियों के साथ ही प्रदेश सरकार को सीधे घेरा था। विरोध प्रदर्शन के बाद भी इस सड़क की सुध नहीं ली गई है, ये सड़क आज एक माह बाद भी उसी हालत में है। वार्ड पार्षद के प्रतिनिधि अजय तोमर ने बताया कि इस सड़क के निर्माण के लिए मटेरियल तो लाकर डाल दिया गया लेकिन अभी तक सड़क का निर्माण कार्य शुरू नहीं हुआ है। तोमर बताते है कि सड़क निर्माण के लिए विधायक से चर्चा की है, शीघ्र ही महापौर व अन्य निगम अधिकारियों से भी चर्चा की जाएगी। अगर सड़क का निर्माण जल्द शुरू नहीं किया गया तो फिर रहवासियों को साथ लेकर आंदोलन किया जाएगा।

वार्ड 7: निगम इंजीनियरों ने दिया आश्वासन

वार्ड 7 में इटावा व अन्य आसपास का क्षेत्र आता है। यहां पर सीवरेज का काम पूरा होने के बाद भी सड़क का निर्माण कार्य नहीं किया गया है। बारिश में लोगों को परेशानी होगी। पूर्व में यहां पर कई बड़े वाहन सीवरेज की कच्ची सड़क के कारण फंस चुके है। पार्षद शहनाज खान भी पूर्व में सीवरेज के गुणवत्ताविहीन काम को लेकर आंदोलन कर चुकी है। पार्षद प्रतिनिधि रईस खान ने बताया कि उन्होंने एक दिन पूर्व ही निगम इंजीनियरों से बात की है, उन्होंने एक-दो दिन का बोला है। पार्षद प्रतिनिधि ने बताया कि अगर निगम वार्ड में कच्ची सड़कों के निर्माण में देरी करता है तो फिर ऐसे मार्गों पर मुरम डलवाकर उसे चलने लायक बनवाएंगे।

वार्ड 19 : स्कूल बसों का हो जाता रास्ता बंद

वार्ड 19 के अंतर्गत ढाचा भवन, सनसिटी-2 व व अन्य एक दर्जन कॉलोनियां आती है। इस वार्ड में भी सीवरेज का काम विधानसभा चुनाव के पहले ही पूर्व हो गया था लेकिन अभी तक सड़क का निर्माण नहीं किया गया है। बारिश को लेकर इस वार्ड के रहवासी भी चिंता में है। बारिश में स्कूल बस का रास्ता भी बंद हो जाएगा। वार्ड की पार्षद वंदना पांडे ने बताया कि निगम अफसरों से इसे लेकर चर्चा की थी, वे कहती है कि अब चुनाव भी खत्म हो चुके है, ऐसे में निगम अधिकारियों को सड़क निर्माण का कार्य बारिश से पूर्व शुरू कर लोगों को राहत देना चाहिए। इस संबंध में निगम आयुक्त नरेंद्र कुमार सूर्यवंशी से बात करनी चाही लेकिन उनसे बात नहीं हो सकी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned