युवाओं को भा रही पीएम के 'मन की बात'

युवाओं को भा रही पीएम के 'मन की बात'

Arjun Richhariya | Publish: Feb, 15 2018 06:34:44 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 06:44:26 PM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

पीएम से प्रेरणा लेकर लगाया डेयरी संयंत्र

देवास. देवास के एक युवा वरुण शरद अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मन की बात से प्रेरणा लेकर डेयरी का आधुनिकतम संयत्र स्थापित किया है। उन्होंने अपने परंपरागत अनाज के व्यवसाय से हटकर एक आधुनिक दूध डेयरी की सफल शुरूआत की है। वरुण ने देवास जिला मुख्यालय से 15 किलोमीटर की दूरी पर मक्सी रोड राबडिय़ा गांव में अंबर डेयरी प्रारंभ की है। इस डेयरी की लागत 10 करोड़ रुपए हैं। इसकी शुरूआत उन्होंने 10 गायों से की थी। इन 10 गायों में गिर और डेनमार्क मूल की हॉस्टन फ्रीजियन गाय शामिल थी। यह इंटरपेनियोर अब 80 गायों के संख्या के साथ एक व्यवस्थित और विशाल उद्यम बन गया है। यह एक ऐसा डेयरी फार्म है, जहां गायों की ऑटोमेटिक मसाज होती है। शॉवर की उत्तम व्यवस्था है और सबसे अनूठी बात यहां चौबीस घंटे हरि भजन चलते रहते हैं। वरुण बताते हैं कि यहां पर गायों को खाना देने से लेकर दूध निकालने तक की प्रोसेस में कहीं पर भी इंसानी हाथ नहीं लगता है सारा काम आधुनिक मशीनों से किया जाता है। इस डेयरी फार्म में दूध निकालने के लिए मशीनें हैं। दूध की बॉटलिंग की प्रक्रिया में 20 सेकंड में दूध को 80 डिग्री टेंपरेचर पर गर्म किया जाता है। इसके तुरंत बाद उसे 4 डिग्री टेंपरेचर पर लाया जाता है और इसे इतने ही तापमान पर इन्सुलेटेड वेन द्वारा ग्राहकों के घर तक पहुंचाया जाता है। इससे दूध की गुणवत्ता बनी रहती है और दूध 3 दिनों तक चलता है। दूध को कांच की बोतल में पैक किया जाता है। वरुण का कहना है कि दूध देवास शहर और इंदौर में डोर.टू.डोर सप्लाई किया जाता है। यहां गायों के दूध से बने घी की भी भारी डिमांड रहती है। यह घी 1100 रुपए प्रति किलो के रेट पर बिकता है। इस डेयरी में दूध का प्रतिदिन का उत्पादन 350 लीटर है। साथ ही घी लगभग 300 किलो प्रतिमाह बनाया जाता है। गायों के गोबर के कंडे भी बनते हैं और जैविक खाद तैयार की जाती है। गोबर, गोमूत्र और पानी मिलाकर जो खाद बनाई जाती है। वह यूरिया और पेस्टीसाइड दोनों का एक मजबूत विकल्प है।

Ad Block is Banned