scriptProcession taken out on 55th initiation day of Acharya Vidyasagar | झुकना सीखो क्योकि श्रीफल से ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण है : लल्लन भैया | Patrika News

झुकना सीखो क्योकि श्रीफल से ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण है : लल्लन भैया

आचार्य विद्यासागरजी के 55वें दीक्षा दिवस पर निकाली शोभायात्रा, सिद्धचक्र महामंडल विधान का किया शुभारंभ

देवास

Published: July 06, 2022 05:49:14 pm

सोनकच्छ(देवास). विनम्रता, आदर सत्कार के साथ विशुद्धि का भाव होना चाहिए। भावनाओं की निर्मतला के साथ अगर आप सिद्धचक्र मंडल विधान का लाभ लेंगे तो आप निश्चित ही विधान के साथ-साथ पंच कल्याणक का भी आंनद लेंगे। यह विचार श्री महावीर दिगम्बर जैन मन्दिर में पुण्यार्जन सेठी परिवार द्वारा आयोजित श्री सिद्धचक्र महामण्डल के शुभारंभ अवसर पर ब्र. मनोज लल्लन भैया ने उपस्थित भक्तों के समक्ष व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जीवन में स्पीड कितनी पकड़ लो लेकिन सासों की ग्यारंटी नहीं है। इसलिए अपना पुण्य बढ़ाना हो तो विनम्र बनो, झुकना सीखो क्योकि श्री फल महत्वपूर्ण है लेकिन उससे ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण होता है।
आयोजन से एक दिनपूर्व जैन समाज व सेठी परिवार द्वारा विधानाचार्य निमंत्रण के साथ परिवार के सुरेश सेठी द्वारा तिलक लगाकर निमंत्रण देते हुए विधानचार्य लल्लन भैया का सम्मान किया गया। शुभारम्भ अवसर पर पुण्यार्जन परिवार के घर से बैंडबाजों, ढोल-ढमाकों व सकल दिगम्बर जैन समाज के साथ शोभायात्रा निकाली गई। यात्रा में सकल जैन समाज के महिला-पुरुष, बच्चे शामिल थे। शोभायात्रा में महिला चुनरी पहनकर सिर पर मंगल कलश लिए थीं, वही विधानचार्य भैया, परिवार के सदस्य व जाप मंडल धोती पंछे पहन के यंत्र जी लिए हुए चल रहे थे।
झुकना सीखो क्योकि श्रीफल से ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण है : लल्लन भैया
झुकना सीखो क्योकि श्रीफल से ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण है : लल्लन भैया
सवा लाख मंत्र जाप का लिया संकल्प
जानकारी देते हुए समाज के रोमिल जैन ने बताया कि भैया जी द्वारा मंत्रोच्चार के द्वारा जैन समाज अध्यक्ष रविन्द्र भुच व ट्रस्टियों के साथ सेठी परिवार के वरिष्ठजनों द्वारा ध्वजारोहण कर आचार्यश्री की जयघोष के साथ आयोजन का शुभारंभ किया। जिसके बाद श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान के समक्ष समाज व पुण्यार्जन परिवार की महिलाओं ने मंडप शुद्धि कर भगवान की भक्ति का पुण्यलाभ लिया। इस अवसर पर विधान की निर्विघ्नता से संपन्न होने की कामना करते हुए श्री आदिनाथ नवयुवक मंडल सदस्यों व समाजजन द्वारा सवा लाख मंत्र जाप का संकल्प लिया।
झुकना सीखो क्योकि श्रीफल से ज्यादा शीश फल महत्वपूर्ण है : लल्लन भैया

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान, 20 लाख युवाओं को देंगे नौकरी और रोजगारIndependence Day 2022 : अगले 25 सालों का क्या है प्लान, पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातेंIndependence Day 2022: लाल किले पर बना नया रिकार्ड, पहली बार मेड इन इंडिया तोप ने दी सलामी, जानें इसके बारे मेंHar Ghar Trianga Campaign में 30 करोड़ से ज्यादा के झंडे बिके, CAIT ने बताया इतने करोड़ का हुआ कारोबारIndependence Day 2022: मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय में फहराया तिरंगा, बोले-देश को क्या दे रहे हैं यह सोचकर जीने की जरूरत15 August 2022: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी 3 हेल्थ स्कीम कर सकते हैं लॉन्च , जानें इनके बारेHar Ghar Trianga Live Updates: 'यह राजनीति करने का समय नहीं,मिलकर स्वतंत्रता दिवस मनाने का है समय है', प्रियंका गांधी वाड्रास्वतंत्रता दिवस 2022: गूगल भी मना रहा भारत की आजादी का जश्न, पतंगों के साथ डूडल बनाकर भारत की संस्कृति को दर्शाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.