वेतन भी काट रहे डरते-डरते, लिखा आपके प्रतिवेदन अनुसार की कार्रवाई

- जिला अस्पताल के निरीक्षण के दौरान कलेक्टर को गायब मिला था अस्पताल का स्टाफ

By: Amit S mandloi

Published: 29 Mar 2019, 12:34 PM IST

देवास. जिला अस्पताल में ड्यूटी से गायब स्टाफ का एक दिन का वेतन काटने की सीधे हिम्मत भी जिला प्रशासन नहीं जुटा पाया। 29 जनवरी को कलेक्टर ने जिला अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया था व गायब डॉक्टर, नर्स व अन्य कर्मचारियों को शोकाज नोटिस देकर तीन दिन में जवाब मांगा था।
अब जिला अस्पताल से उस दिन गायब रहे 74 लोगों का वेतन काटने के आदेश कलेक्टर कार्यालय से आए जरूर लेकिन उसकी भाषा ने सिविल सर्जन कार्यालय को उलझा दिया है, 26 मार्च को जारी आदेश में लिखा है कि आपके प्रतिवेदन के अनुसार एक दिन का वेतन काटा गया है। अब इस आदेश में अस्पताल प्रबंधन उलझ गया है। जिला अस्पताल के लापरवाहों पर कार्रवाई के लिए भी कलेक्टर कार्यालय को भी डेढ़ माह से अधिक का समय लग गया, लेकिन लडख़ड़ाते हुए जो कार्रवाई अब की जा रही है उस पर भी सवाल उठ रहे हैं।

डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय 29 जनवरी की शाम 7.30 बजे जिला अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे। कलेक्टर ने प्रसूता वार्ड सहित अन्य वार्डों में घूमकर मरीजों से चर्चा की थी। कलेक्टर ने इस दौरान डॉक्टरों का हाजरी रजिस्टर बुलवाकर वहां उपस्थित स्टाफ का मिलान कराया था। हाजरी रजिस्टर के अनुसार कई डॉक्टर, नर्स व अन्य स्टाफ को उस समय ड्यूटी पर मौजूद होना था, लेकिन ये उस समय गायब थे। कलेक्टर के निर्देश पर एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी ने रजिस्टर को अपने साथ रख लिया। इसके बाद कलेक्टर कार्यालय से 13 डॉक्टर, 21 स्टाफ नर्स सहित अन्य को शोकाज नोटिस थमाया गया था। इन सभी से तीन दिन में जवाब मांगा गया था। प्रशासन की तरफ से जिला अस्पताल के 74 लोगों को शोकाज नोटिस थमाए गए थे, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को भी नोटिस दिए गए थे। अब इन सभी का एक दिन का वेतन अगले माह की तनख्वाह में से काटा जाएगा।

इन डॉक्टरों का कटेगा एक दिन का वेतन

जिला प्रशासन दरा 13 डाक्टरों को भी शोकाज नोटिस देकर जवाब मांंगा गया था। अब इन सभी डॉक्टरों का भी एक दिन का वेतन अप्रैल माह में काटा जाएगा। जिन डॉक्टरों को नोटिस दिया गया था उनमें डॉ. एनके सक्सेना, डॉ. एसएस मालवीय, डॉ. ए श्रीवास्तव, डॉ. विजया सकपाल, डॉ. मनीषा मिश्रा, डॉ. पवन पाटीदार, डॉ. देवेंद्र आर्य, डॉ. गरीमा शाह, डॉ. पलक शर्मा, डॉ. भगवान सिंह गुर्जर, डॉ. खुशबू विखार, डॉ. कपिल सोलंकी, डॉ. हेमंत पटेल शामिल थे।

कलेक्टर कार्यालय की तरफ से 23 मार्च को एक आदेश पत्र आया है जिसमें एक दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए गए हैं। नोटिस में लिखा आपके प्रतिवेदन के अनुसार एक दिन का वेतन काटा जाए, अभी इसे समझना पड़ेगा। मार्च तो खत्म हो गया, अब अप्रैल की तनख्वाह से ही एक दिन का वेतन कटेगा।
डॉ. आरके सक्सेना, सिविल सर्जन
जिला अस्पताल देवास।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned