आखिर क्यों सपाक्स संघ को बाजारों में पैदल घूमकर करना पड़ा बाजार बंद का आह्वान, देखे वीडियो

आखिर क्यों सपाक्स संघ को बाजारों में पैदल घूमकर करना पड़ा बाजार बंद का आह्वान, देखे वीडियो

Amit Mandloi | Publish: Sep, 05 2018 05:24:26 PM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

सपाक्स ने किया विनम्रता पूर्वक बंद का आव्हान

देवास.
सामान्य, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक कल्याण संस्था सपाक्स के मीडिया प्रभारी आशीष निगम ने बताया कि दलित संगठनों और सांसदों के दबाव में केन्द्र सरकार ने एससी-एसटी एक्ट में बिना जांच, एफआईआर और गिरफ्तारी का प्रावधान दोबारा जोडऩे का फैसला कर लिया है। गत 20 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने इन प्रावधानों पर रोक लगा दी थी। सुप्रीम कोर्ट का फैसला निष्प्रभावी करने के लिए कैबिनेट ने अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति एट्रोसिटी एक्ट अत्याचारों की रोकथाम संशोधन विधेयक 2018 को मंजूरी दे दी है।

इसी कड़ी में सपाक्स समाज द्वारा देवास बंद का आव्हान करते हुए अपनी तीन सूत्रीय मांगों के समर्थन में शहर की जनता से सहयोग करने की अपील की है। सपाक्स के पदाधिकारियों ने 6 सितंबर के बंद को लेकर बुधवार रैली निकाली। संघ का कहना है बंद पूरी तरह से शांतिपूर्वक रहेगा।
सपाक्स संघ के तमाम पदाधिकारी बुधवार को चामुंडा काम्प्लेक्स से रैली के रूप में निकले। कानून को लेकर पर्चे बांटते हुए तमाम व्यापारियों से बंद को सफल बनाने का आह्वान किया। सपाक्स ने मांग की है कि आर्थिक आधार पर आरक्षण दिया जाए। पद्दोन्नति में आरक्षण समाप्त हो और एट्रोसिटी एक्ट के दुरूपयोग का आरोप लगाकर सुप्रीम कोर्ट ने 20 मार्च को इसके कई प्रावधानों पर जो शर्तें जोड़ी थी। उसे उच्च न्यायालय के आदेश का पालन कर यथावत लागू की जाए। जिसमें कहा गया था कि शिकायत मिलते ही डीएसपी स्तर के अधिकारी द्वारा जांच प्रक्रिया हो, सरकारी कर्मियों एवं आम जनता की गिरफ्तारी के लिए सक्षम अर्थोरिटी की मंजूरी जरूरी एवं एससी-एसटी एक्ट के आरोपियों को भी जमानत का अधिकार प्राप्त हो।

6 सितंबर को शांतिपूर्ण तरीके से बंद को सफल बनाने के लिए विनम्रता पूर्व आग्रह किया है। इन सभी मांगों के समर्थन में 6 सितंबर दोपहर 1 बजे जिला कलेक्टर को आवेदन दिया जाएगा। जिलाध्यक्ष सुभाष पंड्या, संयोजक प्रयास गौतम,गंगासिंह सोलंकी, अनिलसिंह ठाकुर, हटेसिंह बैस, सुनीलसिंह ठाकुर, राजेन्द्र पवार, कविता लोकेन्द्र ठाकुर, महिला जिलाध्यक्ष प्रीति तोमर,भानु अग्रवाल, अरूण शर्मा, रेखा बैस, उषा बुंदेला, मनीष पाटनिया बंद को सफल बनाने की अपील की है। बंद से चिकित्सा, दवाई, दूध, सब्जी को बंद से मुक्त रखा गया है। रैली बुधवार दोपहर में निकली थी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned