मौत का खुलासा होने पर ही करेंगे अंतिम संस्कार

Arjun Richhariya

Publish: Dec, 07 2017 02:13:08 (IST)

Dewas, Madhya Pradesh, India
मौत का खुलासा होने पर ही करेंगे अंतिम संस्कार

शाम ५.४५ पर एयरपोर्ट पर आया नीलेश का शव, परिजन व नेताओं को भी नहीं बताया मौत का कारण

देवास. दुश्मनों से लोहा लेने वाले आर्मी के जवान नीलेश धाकड़ की मौत कैसे हुई इस सवाल का जवाब अभी भी परिजन को नहीं मिल सका है। सिर्फ यह पता है कि श्रीनगर में नीलेश की फायरिंग के दौरान गोली लगने से मृत्यु हो गई है। नीलेश के परिजना का कहना है कि समाज के साथ ही अन्य समाज के लोग बड़ी संख्या में रसूलपुर बायपास देवास पर सुबह ८ बजे से एकत्रित होंगे। यहां पर आर्मी के अधिकारियों से सामूहिक रूप से नीलेश की मौत का कारण पूछा जाएगा, अगर यहां भी आर्मी के अधिकारी कोई स्पष्ट कारण नहीं बताते हैं, तो गांव में शव ले जाकर अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा तथा देवास जिला चिकित्सालय में डॉक्टरों की पैनल से पोस्टमॉर्टम की मांग की जाएगी। परिजन का कहना है कि अब तक यही कहा जा रहा है कि नीलेश की मृत्यु एक्सिडेंटल (गलत फायरिंग) हुई है। कैसे गोली लगी, क्या परिस्थिति थी, इसकी जानकारी अभी तक नहीं दी है।
नियमानुसार आर्मी के किसी भी जवान की मृत्यु के २४ घंटे में आर्मी अफसर परिजनों को स्पष्ट कारण बता देते हैं, किंतु नीलेश की मौत के दो दिन बाद भी परिजनों को मौत का कारण नहीं बताया गया। नीलेश के मामा कुलदीपसिंह नागर एडवोकेट व मामा जयसिंह नागर ने बताया, बुधवार शाम को प्लेन से इंदौर एयरपोर्ट पर शाम ५.४५ बजे नीलेश का शव लाया गया। शव लेकर आए आर्मी के अधिकारियों से परिजन व जनप्रतिनिधियों ने मौत का कारण पूछा, तो जवाब नहीं दिया। इसी तरह महू कैंट के कर्नल से भी वजह जानी, किंतु उन्होंने ने जवाब नहीं दिया है। नीलेश की मौत के कारणों का खुलासा नहीं होने से अभी भी परिजन पेशोपेश में है कि अंतत: उसकी मृत्यु कैसे हुई है। इंदौर एयरपोर्ट पर नीलेश का शव आते ही आर्मी, परिजन व जनप्रतिनिधियों ने श्रद्धांजलि दी और शव को लेकर सीधे महू आर्मी केंट पहुंच गए हैं। शव के साथ में आर्मी ने मृतक के बड़े भाई रजनीश धाकड़, रिश्तेदार राजेश नागर व मुकेश नागर को रहने की अनुमति दी है। दोनों मामा का कहना था कि जैसे ही नीलेश का शव एयरपोर्ट पर आया, वैसे ही उसके बड़े भाई व अन्य रिश्तेदारों का रो-रोकर हाल-बेहाल हो गया था।
जवान का पार्थिव शरीर पहुंचा इंदौर
इंदौर. देवास जिले के सोनकच्छ के तहत आने वाले ग्राम घिचलाय में रहने वाले शहीद नीलेश धाकड़ का पार्थिव शरीर बुधवार शाम इंदौर पहुंचा। एयरपोर्ट पर महापौर मालिनी गौड़, विधायक उषा ठाकुर, सोनकच्छ विधायक राजेंद्र वर्मा के भाई और सांवेर जनपद सदस्य हैप्पी वर्मा, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव सज्जनसिंह वर्मा, प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा आदि नेताओं ने पार्थिव देह पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। श्रीनगर से विमान से आए शहीद के पार्थिव शरीर को यहां से बीएसएफ के वाहन से उनके गृहग्राम घिचलाय ले जाया गया। गौरतलब है, श्रीनगर में तैनात बीएसएफ जवान धाकड़ की एक्सीडेंटल फायरिंग में मौत हो गई थी। बीएसएफ इसकी जांच करवा
रही है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned