खत्म होगा शिक्षकों का संकट, जल्द होगी अतिथियों की भर्ती

खत्म होगा शिक्षकों का संकट, जल्द होगी अतिथियों की भर्ती

Arjun Richhariya | Publish: Jul, 14 2018 12:44:46 PM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

- 59 जन शिक्षा अंतर्गत स्कूलों में पहुंचेंगे करीब 600 अतिथि शिक्षक



देवास. जिले के 59 जन शिक्षा केंद्र के अंतर्गत आने वाले 2059 स्कूलों में शिक्षकों की कमी दूर होने वाली है। शिक्षा विभाग के अनुसार जिले के विभिन्न स्कूलों में अभी 600 शिक्षक ओर चाहिए। इस कमी को अब अतिथि शिक्षकों की भर्ती से पूरा किया जाएगा।
स्कूल शिक्षा विभाग ने 2018-19 के लिए सरकारी स्कूलों में अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। इस वर्ष शिक्षकों की कमी के बीच जिले से 76 शिक्षकों का स्थानांतरण अन्य जिलों में हो गया था। बाहर से स्थानांतरित होकर केवल 40 ही शिक्षक आए थे। अतिथि शिक्षकों की इस बार ऑनलाइन भर्ती होगी। जिसमें आवेदक रिक्तियों के आधार पर अध्यापन के लिए इच्छुक आवेदक को चाहे गए स्कूलों में निर्धारित तिथि तक आवेदन पोर्टल जनरेटेड स्कोर कोर्ड के साथ प्रस्तुत करना होगा। बिना स्कोर कार्ड के आवेदन मान्य नहीं होगा। जिले में शिक्षकों की कमी के चलते वर्तमान में 64 शालाएं शिक्षक विहीन हैं। वहीं 153 शालाएं एक शिक्षक के भरोसे ही चल रही हैं। अतिथि शिक्षकों की भर्ती से इन शालाओं में अब बच्चों को पढ़ाई भी मिल जाएगी। स्कूल में प्राप्त आवेदनों में स्कोर के आधार पर स्कूल स्तर पर मेरिट के आधार पर तैयार पैनल का अनुमोदन किया जाएगा। तैयार पैनल में से गुणानुक्रम में से आवेदकों को अध्यापन के लिए आमंत्रित किया जाएगा। इस दौरान अतिथि शिक्षकों को नियुक्ति पत्र नहीं दिया जाएगा। गौरतलब है कि वर्ष २०१७ में जिन अतिथि शिक्षकों ने ऑनलाइन आवेदन किए थे, उन्हे इस बार पहले मौका दिया जाएगा। नए अतिथि शिक्षकों के ऑनलाइन आवेदन पुराने शिक्षकों के निराकरण के बाद लिए जाएंगे। वैसे क्योस्क वाले भी अभी ऑनलाइन अतिथि शिक्षकों के पंजीयन करने को तैयार नहीं है। उनका कहना है कि एजुकेशन पोर्टल पर आवेदन करने में बहुत दिक्कत आती है।

वर्जन- शासन के आदेश के बाद अतिथि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई है। अतिथि शिक्षकों की भर्ती से जिले की कई शालाओं में शिक्षकों की कमी को दूर किया जा सकेगा। अनुमानित करीब 600 शिक्षक जिले में चाहिए।
सीबी केवट, डीईओ,
जिला शिक्षा विभाग।

Ad Block is Banned