जिनके बिल किए थे माफ उन्हें भी राशि जोड़कर थमा दिए

- अधिक बिल के चलते बिजली उपभोक्ताओं में नाराजगी

बागली संदीप जायसवाल एक ओर सरकार बिजली बिल माफ करते हुए गरीब उपभोक्ताओं को राहत देने का कार्य कर रही है। वहीं दूसरी ओर बिजली कंपनी के जिम्मेदारों द्वारा अनाप.शनाप बिल उपभोक्ताओं को थमाए जा रहे हैं। ऐसा ही मामला बागली नगर व आसपास के ग्रामीण अंचलों का सामने आया है, जहां पर बिजली कंपनी द्वारा लापरवाही पूर्वक उपभोक्ताओं को मीटर रीडिंग से भी अधिक बिल थमाए जा रहे हैं, साथ ही बीपीएल धारकों को भी भारी भरकम बिल दिए जा रहे हैं, जिससे उपभोक्ता संशय की स्थिति में हैं।
थमाया पिछली राशि जोड़कर बिल
मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सरल बिजली बिल योजना,मुख्यमंत्री बकाया बिल माफी योजना 2018 के अंतर्गत उपभोक्ताओं को बिजली बिल माफी प्रमाण पत्र दिए गए तथा उनका बिजली बिल भी माफ किया गया लेकिन ऐसे ही मामले में बागली का एक मामला सामने आया जिसमें मनुबाई पति प्रेम सिंह निवासी बागली जो कि बीपीएल धारक है जिनका सर्विस क्रमांक 103180668 है तथा बिजली कनेक्शन क्रमांक 37739840 इनका पुराना बिल 8809 रुपए था जो कि इस योजना के अंतर्गत माफ किया गया लेकिन जिम्मेदारों के द्वारा लापरवाही पूर्वक पुन: उक्त बिल को जून माह के बिल में जोड़कर उपभोक्ताओं को 9596 रुपए का थमा दिया गया जिससे उपभोक्ता काफी परेशान हो रहा हैं, इससे ऐसा अंदाजा लगाया जा सकता है कि शासन जो योजना चला रही है उसके प्रति जवाबदार विभाग गंभीर नहीं है और वहां उपभोक्ताओं के साथ खिलवाड़ कर रहे है। साथ ही उपभोक्ता का प्रति माह का 200 रुपए बिल आना था लेकिन वहां भी ऐसा नहीं हुआ और उपभोक्ता का बिल 787 रुपए बकाया में जुड़कर आया, उपभोक्ताओं का मानना है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो उपभोक्ताओं को शासन की योजना का लाभ नहीं मिल पाएगा और वहां परेशान होते रहेंगे। इस संबंध में बिजली विभाग के मुख्य कार्यपालन अभियंता डीके छिपा से चर्चा करनी चाहिए लेकिन उनका फोन कवरेज एरिया से बाहर बताया गया तथा इसके बाद कनिष्ठ उपयंत्री नरेंद्र कुमार शर्मा से भी चर्चा करनी चाहिए लेकिन उनके द्वारा फोन नहीं उठाया गया।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned