रात में मजदूर की नींद लगी तो कर दिया बर्खास्त

रात में मजदूर की नींद लगी तो कर दिया बर्खास्त

Amit Mandloi | Publish: Sep, 11 2018 11:35:39 AM (IST) Dewas, Madhya Pradesh, India

- मजदूरों ने मामले जुर्माना की मांग की तो कंपनी ने ध्यान नहीं दिया, मजदूरों ने कर दी हड़ताल

देवास. भंडारी फाइल्स एंड ट्यूब लिमिटेड के मजदूरों ने सोमवार सुबह से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है। कंपनी गेट से कलेक्टर कार्यालय तक करीब 200 मजदूरों ने रैली निकालकर कंपनी मैनेजमेंट की तानाशाही के खिलाफ कलेक्टर को आवेदन दिया। भंडारी फाईल्स आजाद मजदूर यूनियन अध्यक्ष हिमांशु श्रीवास्तव ने बताया, गत 9 अगस्त को श्रमिक राजाराम पर झूठे आरोप लगाकर जुर्माने से दंडित होने वाले अपराध में कंपनी से बर्खास्त कर दिया। इसके विरूद्ध 11 अगस्त को यूनियन ने कंपनी को हड़ताल का नोटिस देते हुए श्रम पदाधिकारी को भी संपूर्ण मामले में दखल देकर समझौता करवाने की मांग की थी।

दोनों ही ओर से एक माह में कोई सक्रियता नहीं दिखाने पर जब यूनियन के पदाधिकारियों ने कंपनी मैनेजमेंट से बात करना चाही तो उन्होंने बात करने की बजाय अध्यक्ष के साथ ही दुव्र्यवहार किया, जिससे श्रमिक नाराज हो गए। सोमवार सुबह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। दरआसल मजदूर राजाराम नाइट ड्यूटी पर था, जिसकी निंद लग गई थी। सोते हुए मैनेजमेंट के अधिकारियों ने देख लिया तो जुर्माना करने के बजाए उसे कंपनी से बर्खास्त कर दिया गया। मजदूर राजाराम को फिर से कंपनी में रखने की मांग को लेकर हड़ताल शुरू कर दी गई।

यूनियन के सुरेश चौधरी ने बताया, कंपनी द्वारा हड़ताल तोडऩे का प्रयास लगातार किया जा रहा, लेकिन मजदूरों ने अपनी एकता का परिचय दिया और हड़ताल के दौरान कोई भी मजदूर कंपनी में काम पर नहीं गया। यूनियन पदाधिकारियों के नेतृत्व में गेट पर मीटिंग कर मैनेजमेंट से बात करने का प्रयास किया, लेकिन मैनेजमेंट ने उसमें भी कोई रूचि नहीं ली और ना ही श्रम विभाग से किसी अधिकारी ने हड़ताल को खत्म करने का प्रयास किया। बल्कि कंपनी मैनेमेंट द्वारा वैध हड़ताल को अवैध दर्शाते हुए मजदूरों को डराने की मंशा से कार्रवाई किए जाने के नोटिस कंपनी गेट पर चिपका दिए गए। मजदूरों की रैली मधुमिलन चौराहा होते हुए विकास नगर, कैलादेवी के बाद मंडुक पुष्कर पर सभा में तब्दील हुई, जहां यूनियन के सलाहकार मंडल सदस्य डॉ. रविन्द्र चौधरी ने संबोधित किया। इसके बाद सभी ने कलेक्टोरेट में जाकर कलेक्टर के नाम तहसीलदार आशीष खरे को आवेदन दिया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned