अधिकारियों की गलतियों की वजह से धान नहीं बेच पा रहे किसानों ने जिला प्रशासन को दी चेतावनी

धमतरी जिले के ग्राम उमरदा में राजस्व विभाग के अधिकारियों की गलतियों का खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है।

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के ग्राम उमरदा में राजस्व विभाग के अधिकारियों की गलतियों का खामियाजा किसानों को भुगतना पड़ रहा है। यहां बारिश के चलते किसी भी किसान का फसल चौपट नहीं हुआ है, लेकिन 30 किसानों का नाम क्षतिपूर्ति की सूची में डाल दिया गया है। इससे किसान समर्थन मूल्य पर धान नहीं बेच पा रहे हैं। गुरुवार को किसानों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर मामले की जांच कराने की मांग की।

किसान सोहन कवर ने बताया कि उन्होंने ढाई एकड़ खेत में धान का फसल लगाया था। बारिश से फसल को किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ है। जब वह समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए खरीदी केंद्र गया,तो वहां से कर्मचारियों ने उनको लौटा दिया।

कर्मचारियों का कहना है कि राजस्व विभाग ने सर्वे रिपोर्ट में उनकी फसल को नुकसान होना बताया है। रामलाल, सोहन कुमार, चैती यादव, देवाराम पटेल आदि ने जिला प्रशासन को चेतावनी दी है कि समर्थन मूल्य पर उनकी धान की खरीदी नहीं होने पर उग्र प्रदर्शन करेंगे।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned