पेट्रोल पंपों में जरूरी सुविधाओं की कमी, नहीं लगाया गया है कंप्लेन बॉक्स

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के अधिकांश पेट्रोल पंपों में सुविधाओं को दरकिनार कर दिया गया है।

By: Deepak Sahu

Published: 03 Jan 2019, 03:39 PM IST

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के अधिकांश पेट्रोल पंपों में सुविधाओं को दरकिनार कर दिया गया है। यहां ग्राहकोंं को हवा, पानी समेत अन्य सुविधाएं नहीं मिलने से उन्हें भटकना पड़ रहा है। सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया है। शिकायत करने के लिए शिकायत बाक्स भी नहीं लगाया गया है। ऐसे में उन्हें परेशानी हो रही है।

बता दे कि जिले में विभिन्न कंपनियों के करीब 33 पेट्रोल पंप हैं। संचालको को अपने ग्राहको को नि:शुल्क हवा, पानी समेत अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराना है, लेकिन जिले में इस नियम का खुलकर उल्लंघन किया जा रहा है। पत्रिका ने बुधवार को शहर के मकई चौक, रत्नाबांधा, अम्बेडकर चौक स्थित पेट्रोल पंपों का जायजा लिया। देखा गया है कि इनमें से अधिकांश पेट्रोल पंपोंं में उपभोक्ताओं को बुनियादी सुविधाएं नहीं मिल रही है। कहीं वाहन में हवा भरने का उपकरण खराब है, तो कहीं पीने के पानी की व्यवस्था नहीं है। सुरक्षा के दृष्टिकोण से केवल दो बाल्टी रेत भरकर रखा गया था, जबकि फायर इंस्टीगेटर को रिफलिंग ही नहीं कराया गया था।

छोटी सी चूक दुर्घटना का कारण बन सकती है। ग्राहक बिरेन्द्र देवांगन, खेमलाल साहू ने बताया कि वाहन में पेट्रोल डीजल भराने के बाद उन्हें वाहन के चक्के में हवा भराने के लिए दूसरी जगह जाना पड़ता है। इसके अलावा पानी की व्यवस्था नहीं रहती है। ग्राहकों को नियमों की जानकारी नहीं होने के चलते ही संचालक अपनी मर्जी चलाते हैं।

खाद्य अधिकारी बीके कोर्राम ने बताया कि समय-समय पर पेट्रोल पंपों का जायजा लिया जाता है। खामी होने पर संचालकोंं को हिदायत भी दी जाती है।

देना है प्रशिक्षण
नियमानुसार पेट्रोल पंपों में काम करने वाले कम से कम दो कर्मचारियों को हर तीन माह मेंं सुरक्षा समेत अन्य बिंदुओं पर प्रशिक्षण भी दिया जाना है। शहर के दो पेट्रोल पंपोंं को छोडक़र किसी भी पेट्रोल पंप में प्रशिक्षित कर्मचारी नहीं है। ऐसे में कभी भी छोटी सी चूक बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकता है।

यह होनी चाहिए सुविधा
सूत्रों की मानें तो शासन के गाइड लाइन के अनुसार पेट्रोल पंपों में ग्राहकों को वाहन में हवा भरने, पीने की पानी की व्यवस्था, फायर इंस्टीगेटर, फस्र्ट एड बाक्स, डिस्प्ले बोर्ड समेत अन्य सुविधाएं प्रदान कराना अनिवार्य है, ताकि ग्राहक पूरी तरह से संतुष्ट होकर जाए। लेकिन देखा गया है कि पंपों में इस नियम का पालन नहीं हो रहा है। यही नहीं पंपों में शिकायत पुस्तिका भी रखना अनिवार्य है, जिसमें कोई भी ग्राहक अपनी शिकायत दर्ज कर सकता है। विडम्बना है कि शिकायत करने के बाद भी पेट्रोल पंप संचालक उसकी उपेक्षा कर रहे।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned