बर्फबारी के कारण उत्तर से आ रही है ठंडी हवाएं, मौसम वैज्ञानिकों ने कहा- और बढ़ेगी ठंड

हिमालय की तराई मेंं हो रही बर्फबारी का असर छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिल रहा है।

By: Deepak Sahu

Published: 30 Dec 2018, 11:06 AM IST

धमतरी. हिमालय की तराई मेंं हो रही बर्फबारी का असर छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिल रहा है। पिछले दो दिनों से पड़ रही कड़ाके की ठंड से जन-जीवन प्रभावित हो गया है। दिन का तापमान जहां 5 डिग्री सेंटीग्रेट कम हो गया है, वहीं रात का पारा 9 डिगी सेंटीग्रेट का लुढक गया है। अचानक ठंड बढऩे से दमा समेत अन्य बीमारी से पीडि़त लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

हर दूसरे दिन मौसम में परिवर्तन
बता दें कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने के कारण हर दूसरे दिन मौसम में परिवर्तन हो रहा है। दक्षिण-पूर्व की ओर से आने वाली ठंडी हवाओं से भी वातावरण में नमीं आ गई है। शनिवार को अलसुबह से ही शीतलहर चलने से लोगों की दिनचर्या प्रभावित हुई। दोपहर बाद हवा का रूख भी बद गया। हवा में 80 फीसदी तक आर्द्रता होने के चलते ठंडी हवाएं बहती रही।

मरीजों को हो रही है परेशानी
उधर कंपा देने वाली ठंड में सबसे ज्यादा परेशानी दमा और दिल की बीमारी से पीडि़त मरीजों को हो रही है। डाक्टरों की मानें तो ठंड का सीजन ऐसे मरीजों के लिए किसी मुसीबत से कम नहीं है। शहरी क्षेत्र को छोडक़र वनांचल में दिन और रात के तापमान में 18 डिग्री सेंटीग्रेट का अंतर आया है। पहाड़ी इलाका होने के चलते यहां ठंड अपने शबाब पर हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों नगरी क्षेत्र में ठंड के कारण एक महिला की मौत भी हो गई थी।

और बढ़ेगी ठंड
मौसम वैज्ञानिक पीएल देवांगन की मानें तो हिमालय की तराई में हो रही बर्फबारी के कारण उत्तर की ओर से ठंडी हवा बह रही है। महाराष्ट्र में एक द्रोणिका सक्रिय है, जिसका असर भी प्रदेश में देखने को मिल रहा है। यही स्थिति रही, तो ठंड और बढ़ सकता है। उधर दिसंबर के अंतिम सप्ताह में पडऩे वाली ठंड ने पिछले 50 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned