नगरीय निकाय चुनाव: 20 वार्डों में भाजपा-कांग्रेस का बिगड़ सकता है समीकरण

नामांकन पत्रों की स्कू्रटनी के बाद प्रमुख प्रतिद्वंदी पार्टी भाजपा और कांग्रेस के नेताओं ने असंतुष्टों का मान-मनौव्वल शुरू कर दिया है।

By: Ashish Gupta

Updated: 08 Dec 2019, 02:32 PM IST

धमतरी. नामांकन पत्रों की स्कू्रटनी के बाद प्रमुख प्रतिद्वंदी पार्टी भाजपा और कांग्रेस के नेताओं ने असंतुष्टों का मान-मनौव्वल शुरू कर दिया है। करीब 20 ऐसे वार्ड हैं, जहां पर यदि वे बागी होकर चुनाव लड़ते हैं, तो संभावनाओं पर असर पड़ सकता है। उधर नामांकन पत्रों की जांच के बाद 15 नामांकन पत्र निरस्त किए गए। इसमें कांग्रेस और भाजपा के एक-एक प्रत्याशी शामिल हैं। 192 नामांकन पत्रों को स्वीकृति दी गई है। 9 दिसंबर को प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह का आबंटन किया जाएगा।

निगम चुनाव (Chhattisgarh Civic Polls) को लेकर राजनैतिक सरगर्मी तेज हो गई है। भाजपा और कांग्रेस की सूची जारी होने के बाद बड़ी संख्या में असंतुष्टों ने अपना नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। इसमें दयाशंकर श्रीवास्तव, मोहम्मद नईमुद्दीन, हितेश रायचुरा, विनोद यादव, मो. मुस्ताक खोखर, धर्मेन्द्र लोढ़ा, सुनील अग्रवाल, शैलेन्द्र नाग, घनश्याम ध्रुव, योगेन्द्र कुमार साहू, विजय मरार, गायत्री सोनी, ज्योति सोनी, यशवंत सोनकर, गीतराम सोनकर, द्वारका गेंडरे, गोपाल लहरे, मुकेश बघेल, सोमनाथ नागेश, जयश्री कौशिक, ढालूराम यादव, कैलाश सोनकर, जयराम नाग, प्रफुल्ल कुमार साहू, ज्योति वाल्मिकी, लक्ष्मी यादव, रेखा बाई कुर्रे, शिवप्रसाद ध्रुव, अखिलेश सोनकर, कमलेश सोनकर, विजय यादव, शंकरलाल साहू, खर्शीद खान, भुनेश्वर यादव, लीलाराम वैद्य, भूषण कुमार साहू, कोमल सार्वा, अभिषेक सोनी प्रमुख है।

वैसे 9 दिसंबर के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी कि इसमें से कितने लोग चुनाव मैदान में रहते हैं। भाजपा-कांग्रेस संगठन के नेताओं ने अपने स्तर पर इन्हें मनाने का प्रयास शुरू कर दिया है। एक जानकारी के अनुसार वर्तमान में करीब 20 ऐसे वार्ड हैं, जहां बागी यदि चुनाव मैदान में डटे रहते हैं, तो भाजपा-कांग्रेस का समीकरण बिगाड़ सकते हैं।

उधर 7 दिसंबर को निर्धारित समय पर नामांकन पत्रों की जांच-पड़ताल की गई। कलेक्टर रजत बंसल ने बारी-बारी से प्रत्याशियों का नाम पुकाकर दावा आपत्ति प्रस्तुत करने के लिए कहा। इस दौरान कुलेश्वरी सोनी ने मोटर स्टैंड वार्ड प्रत्याशी प्रीति बजाज के नामांकन पत्र में दूसरे राज्य का जाति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर आपत्ति जताई।

गोकुलपुर की भाजपा प्रत्याशी सविता कंवर, ब्राह्मण पारा वार्ड के भाजपा प्रत्याशी डॉ एनपी गुप्ता के नामांकन में चल-अचल संपत्ति का सही विवरण नहीं होने की बात को कमल सावा ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई। इसी तरह आमापारा वार्ड के कांग्रेस प्रत्याशी विजय मोटवानी और मराठापारा वार्ड के कमलनारायण यादव के नामांकन में जाति प्रमाण पत्र को लेकर आपत्ति की गई, जिस पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने तुरंत दावा-आपत्ति के प्रकरण पर सुनवाई की।

प्रत्याशियों के बीच हुई नोंकझोंक
उधर नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी के दौरान नामांकन को लेकर आपत्ति करने के मामले को लेकर भाजपा-कांग्रेस के कुछ प्रत्याशियों के बीच कलेक्टर परिसर में ही जमकर बहस भी हुई। इस मामले को लेकर दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ता भी एक-दूसरे पर आरोप लगाते रहे, हालांकि बाद में माहौल शांत हो गया। उपस्थित पुलिस जवानों ने भी उन्हें समझाईश देकर दावा प्रकरणों के निराकरण कराने के लिए कहा।

9 को नाम वापसी
उधर नामांकन पत्रों की स्कू्रटनी के लिए सुबह से ही भाजपा-कांग्रस, बसपा, एनसीपी समेत अन्य राजनैतिक पार्टियों के प्रत्याशियों और उनके समर्थकों की भारी भीड़ लगी रही। दोपहर 2 बजे की स्थिति में नामांकन पत्रों का स्क्रुटनी कर स्वीकृत अभ्यर्थियों को इसकी जानकारी प्रदान की गई। बताया गया है कि 9 दिसंबर को नाम वापसी की प्रक्रिया होगी। इसके बाद प्रत्याशियों को चुनाव चिन्ह का आबंटन किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन ने अपनी तैयारी पूरी कर लिया है।

192 नामांकन पत्र स्वीकृत
करीब एक घंटे तक चली सुनवाई के बाद अधिकांश नामांकन में दावा-आपत्ति के बाद साक्ष्य प्रस्तुत नहीं कर पाने की स्थिति में 192 नामांकन पत्रों को स्वीकृत किया गया। जबकि मोटर स्टैड वार्ड की कांग्रेस प्रत्याशी प्रीति बजाज तथा महिमा सागर वार्ड के भाजपा प्रत्याशी राजेन्द्र साहू के जाति प्रमाण पत्र में त्रुटि पाए जाने पर उसे खारिज कर दिया गया है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned