बैंकों में गहराया करेंसी का संकट, बैंकरों की बढ़ी परेशानी

बैंकों में राशि आहरण के लिए लग रही भीड़ से करेंसी का संकट गहरा गया है।

By: Bhawna Chaudhary

Updated: 18 Apr 2020, 03:31 PM IST

धमतरी. धमतरी जिले के बैंकों में राशि आहरण के लिए लग रही भीड़ से करेंसी का संकट गहरा गया है। आरबीआई के पर्याप्त मात्रा में करेंसी की सप्लाई नहीं होने से बैंक करो की परेशानी बढ़ गई है। सूत्रों की मानें तो करेंसी संकट से उबरने के लिए अब बैंकों के प्रबंधकों ने आरबीआई को 400 करोड़ की करेंसी का डिमांड भेजा है।

उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन के चलते कामकाज पूरी तरह से प्रभावित हो गया है। ऐसे में लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से जिले के करीब 2.41 लाख जनधन खाताधारियों के खाते में 500 रुपए की राशि ट्रांसफर की गई है। इसके अलावा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 91 हजार किसानों के खाते में जो 2 हजार की राशि स्थानांतरित की गई है। यही नहीं गैस सब्सिडी की राशि भी तत्काल सीधे हितग्राहियों के खाते में ट्रांसफर की जा रही है। इतनी बड़ी मात्रा में हितग्राहियों को राशन का भुगतान करने के लिए बैंकरों का पसीना छूट रहा है।

बैंक के एक अधिकारी की मानें तो बैंक प्रबंधन एजेंसी के संकट से जूझ रहे हैं। लॉकडाउन के पूर्व ही आरबीआई से करेंसी की सप्लाई हुई थी। इसके बाद से बाजार में चलने वाली से ही काम चलाया जा रहा था। वर्तमान में आरबीआई की ओर से काफी धीमी गति से उपलब्ध कराया जा रहा है कि बैंकों में हितग्राहियों के लिए पर्याप्त राशि है लेकिन बड़े अकाउंट के लिए करेंसी की किल्लत बनी हुई है।

यह है कारण
सूत्रों की माने तो कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए बैंकों से लोगों ने पहले ही बड़ी मात्रा में करेंसी निकाल लिया था। अभी स्थिति को देखते हुए लोग जान बूझकर नोट नहीं निकाल रहे हैं। बैंकों में सामान्य तौर से लेनदेन हो रहा है। यही वजह है कि पर्याप्त करेंसी बैंक को तक नहीं पहुंच पा रही है। बैंकरों का कहना है कि आरबीआई पूरी तरह से बैंकों को अपना सहयोग प्रदान कर रही है ऐसे में जल्द ही यह समस्या दूर कर ली जाएगी।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned