#CGBSE : पेपर बिगडऩे का गम बर्दाश्त नहीं कर सकी छात्रा, झूल गई फांसी पर

वापस लौटने पर बेटी को फांसी के फंदे पर लटकते हुए देखा तो दोनों के होश उड़ गए। मामले की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से निकालकर पीएम के लिए अस्पताल भेजा

धमतरी. पेपर बिगडऩे से परेशान 12वीं की छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। घटना के समय छात्रा के माता पिता बाहर गए थे। वापस लौटने पर बेटी को फांसी के फंदे पर लटकते हुए देखा तो दोनों के होश उड़ गए। मामले की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से निकालकर पीएम के लिए अस्पताल भेजा। पुलिस मर्ग कायम कर जांच में जुट गई है।


यह है पूरा मामला

कोतवाली पुलिस के अनुसार यशोदा उर्फ मीनू (17) पिता रहीश साहू ने मंगलवार को फांसी लगा ली। बताया जाता है कि हटकेशर के बाजार चौक में एक किराए के मकान में अपने परिजनोंं के साथ रहती थी। वह सर्वोदय स्कूल में कक्षा-12वीं की छात्रा थी। परीक्षा में फिजिक्स सहित दो पेपर बिगड़ गए थे। जिसके बाद से वह तनाव में रहती थी। उसके बाद मंगलवार को छात्रा ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। छात्रा की मौत की खबर फैलते ही इलाके में सनसनी फैल गई।


इधर अंग्रेजी का पर्चा देख 10वीं की छात्रा हुई बेहोश

शहर के दाजी मराठी स्कूल केंद्र में अंग्रेजी का पर्चा देखकर एक छात्रा को अचानक चक्कर आ गया और बेहोश होकर गिर पड़ी। छात्रा के बेहोश होते ही परीक्षा हाल में हड़कंप मच गया। शिक्षकों ने उनके चेहरे में पानी छिड़क कर होश में लाने की कोशिश भी की, लेकिन छात्रा जब सामान्य नहीं हुई, तो सीधे उसे जिला अस्पताल  में पहुंचाया गया। डॉ. संजय वानखेड़े ने छात्रा का उपचार किया। इसके बाद ही छात्रा की हालत में सुधार आया। 

Show More
चंदू निर्मलकर
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned