दूषित पानी समेत वार्ड की समस्याओं को लेकर किया प्रदर्शन, आंदोलन की दी चेतावनी

दूषित पानी समेत वार्ड की समस्याओं को लेकर किया प्रदर्शन, आंदोलन की दी चेतावनी

Deepak Sahu | Publish: Sep, 05 2018 09:00:00 PM (IST) Dhamtari, Chhattisgarh, India

निगम कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन कर जमकर भड़ास निकाली।

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में दूषित पानी समेत वार्ड की समस्याओं को लेकर स्वतंत्र पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने निगम कार्यालय के बाहर धरना-प्रदर्शन कर जमकर भड़ास निकाली। पार्षदों ने आयुक्त को ज्ञापन सौंपकर तीन दिन के भीतर व्यवस्था दुरूस्त नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

उल्लेखनीय है कि बांसपारा वार्ड में पिछले 15 दिनों से पाइप लाइन से टेपनलों में दूषित पानी की सप्लाई की जा रही है। पिछले दिनों अपर कलक्टर केआर ओगरे ने यहां का दौरा कर निगम आयुक्त को व्यवस्था दुरूस्त कराने का निर्देश भी दिया था, लेकिन आज तक कोई सुधार नहीं हो सका है। नंदी चौक, दुर्गा मंदिर वाले क्षेत्र में टेपनलों से पानी के साथ कीड़ा भी निकल रहा। लगातार हो रही उपेक्षा से नाराज स्वतंत्रता पार्षदों ने मंगलवार को निगम कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन कर अधिकारियोंं और निगम प्रशासन की कार्यशैली को लेकर जमकर नारेबाजी की। स्वतंत्र पार्षदोंं ने निगम आयुक्त रमेश जायसवाल को ज्ञापन सौंपकर उचित कार्रवाई की मांग की है। मौके पर नेता प्रतिपक्ष अनुराग मसीह, दीपक ठाकुर, दीपक सोनकर, रानी मीनपाल, शिवओम बैगा नाग उपस्थित थे।

नहीं दिया जा रहा ध्यान
स्वतंत्र पार्षद राजेश पांडे ने निगम के अधिकारियों पर मनमानी का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नाली सफाई करने के बाद गंदगी को तालाब के किनारे डाला जा रहा है। ऐसे में तालाब का पानी पूरी तरह से दूषित हो गया है। यही नहीं बुनियादी समस्याओं को दूर करने की मांग करने पर भी कोई ध्यान नहीं दिया।

सेहत से खिलवाड़
बांसपारा वार्ड के पार्षद दीपक लोंढे का कहना है कि पिछले साल दूषित पानी पीने से वार्ड में 6 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 90 लोग डायरिया से पीडि़त हो गए थे। इस साल भी 10 से ज्यादा लोग डायरिया से पीडि़त होकर निजी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं, जबकि दो दर्जन से अधिक वार्डवासी बीमार है। निगम प्रशासन लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

Ad Block is Banned