चुनाव कराने वाले कर्मचारियों को अब तक नहीं मिला मानदेय, निर्वाचन दफ्तर के लगा रहे चक्कर

चुनाव कराने वाले कर्मचारियों को अब तक नहीं मिला मानदेय, निर्वाचन दफ्तर के लगा रहे चक्कर

Bhawna Chaudhary | Publish: Apr, 30 2019 08:00:00 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

शांतिपूर्ण तरीके से लोकसभा का चुनाव संपन्न कराने वाले कर्मचारियों को अब तक मानेदय नहीं मिला है। और तो और विधानसभा चुनाव का भी मानदेय 3 सौ से अधिक कर्मचारियों के बैंक एकाउंट में नहीं पहुंचा है।

धमतरी. धमतरी जिले में शांतिपूर्ण तरीके से लोकसभा का चुनाव संपन्न कराने वाले कर्मचारियों को अब तक मानेदय नहीं मिला है। और तो और विधानसभा चुनाव का भी मानदेय 3 सौ से अधिक कर्मचारियों के बैंक एकाउंट में नहीं पहुंचा है। इसके लिए उन्हें अब निर्वाचन दफ्तर का चक्कर काटना पड़ रहा है।

उल्लेखनीय है कि जिले में 18 अपै्रल को लोकसभा चुनाव संपन्न हुआ है। इसके लिए 747 मतदान केन्द्र बनाए गए थे। चुनाव कराने के लिए मतदान दल, सेक्टर अधिकारी, माइक्रो आब्र्जवर, वाहन प्रभारी, विडियो निगरानी दल, बीएलओ, सामग्री वितरण में सहयोग समेत अन्य कार्यों में ड्यूटी करने वाले कर्मचारियों को मानेदय राशि नहीं मिली है।

कर्मचारियों ने बताया कि पहले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के दौरान मतदान संपन्न होने के बाद राशि का भुगतान कर दिया जाता था। इसलिए मानेदय की मांग करने की जरूरत नहीं पड़ती थी, लेकिन अब नियम में बदलाव कर दिया गया है। अब बैंक एकांउट के माध्यम से मानदेय का भुगतान किया जा रहा है, जिसमें लेटलतीफी हो रही है। विधानसभा चुनाव को संपन्न हुए पांच महीने से अधिक हो गया है, जिसकी राशि भी अब तक नहीं मिली है। अब तो लोकसभा चुनाव भी संपन्न हो गया है।

उप जिला निर्वाचन अधिकारी, सुनील शर्मा ने बताया लोकसभा चुनाव में लगे कर्मचारियों के मानदेय का भुगतान जल्द किया जाएगा। बैंक एकाउंट में गलती होने के कारण विधानसभा चुनाव में ड्यूटी करने वाले कुछ कर्मचारियों को मानदेय नहीं मिला है।

इनको इतना करना है भुगतान
सूत्रों की माने तो पीठासीन अधिकारी को 12 सौ, सहयोगी कर्मचारी को 9 सौ, बीएलओ को 750 रुपए, सेक्टर अधिकारी को 15 सौ, वाहन प्रभारी को 5 सौ, माइक्रो आब्र्जवर को 12 सौ, तृतीय वर्ग कर्मचारी को 5 सौ और चुतर्थ वर्ग कर्मचारियों को 3 सौ रुपए की दर से भुगतान करना है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned