दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने गया था डिप्टी रेंजर का बेटा, चट्टान में लगी काई में फिसला पैर और...

दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए नरहरा जलप्रपात आए वन विभाग के डिप्टी रेंजर के पुत्र की गहरे खाई में डूबने से मौत हो गई।

धमतरी. अपने दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने के लिए नरहरा जलप्रपात आए वन विभाग के डिप्टी रेंजर के पुत्र टिकेश्वर सोरी (17) की गहरे खाई में डूबने से मौत हो गई। काफी मशक्कत के बाद उसका शव निकाला गया।

यह मामला मगरलोड थानांतर्गत नरहरा जलप्रपात का है। पुलिस ने बताया कि वन विभाग के सिंगपुर रेंज में पदस्थ डिप्टी रेंजर कार्तिकराम सोरी का पुत्र टिकेश्वर कुमार (17) दीपावली त्यौहार मनाने के लिए यहां आया था।

मूल रूप से कांकेर जिले के डूमरपानी निवासी टिकेश्वर बुधवार को अपने कुछ दोस्तों के साथ नरहरा जलप्रपात घूमने के लिए गया था। दोपहर में जलप्रताप क्षेत्र के सौंदर्य को करीब से निहारने के बाद शाम करीब 4 बजे वह दोस्तों के साथ चट्टानों में बहते पानी में अठखेलियां कर रहा था, कि तभी चट्टान में लगी काई से उसका पैर फिसल गया। इसके बाद वह करीब 25 फीट नीचे गहरी खाई में जा गिरा।

दोस्तों ने तत्काल इसकी सूचना वहां खड़े लोगों से मदद मांगी। कुछ युवक जो तैरना जानते थे, उन्होंने प्रयास भी किया। लेकिन सफल नहीं हुए। पुलिस ने उसे ढूंढने के लिए गोताखोरों की मदद ली। रातभर सर्च अभियान चलाया गया, फिर भी उसका कहीं पता नहीं चला।

नहीं आता था तैरना
उल्लेखनीय है कि टिकेश्वर कक्षा 12वीं का छात्र था। कांकेर के नरहरदेव स्कूल में पढ़ता था। उसे तैरना नहीं आता था। दोपहर में पिकनिक मनाने के बाद पानी में खेलने के दौरान यह हादसा हो गया।

पुलिस जांच जारी
दूसरे दिन गुरूवार को अलसुबह से पुलिस और गोताखोरों की टीम ने एक बार फिर अपना खोजबीन अभियान शुरू किया। करीब 20 घंटे के बाद दोपहर को 12 बजे उसका शव पानी के ऊपर तैरते हुआ मिला। पुलिस ने मर्ग और पंचनामा कार्रवाई की। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया।

Show More
Akanksha Agrawal
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned