Kargil Vijay Diwas: कारगिल युद्ध में धमतरी के जवानों ने भी दिखाया साहस

Kargil Vijay Diwas: कारगिल युद्ध में धमतरी के जवानों ने भी दिखाया साहस

Ashish Gupta | Publish: Jul, 26 2019 06:33:07 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

Kargil Vijay Diwas: करीब 60 दिनों तक चले कारगिल युद्ध में छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के वीर सूपतों ने भी अपनी मातृभूमि की सेवा के लिए तन-मन न्यौछावर कर दिया

धमतरी. Kargil Vijay Diwas: जब-जब कारगिल युद्ध की बात होती है, तब-तब पाकिस्तानी सेनाओं के करारी हार की तस्वीर आंखों के सामने दिखाई देने लगती है। करीब 60 दिनों तक चले इस युद्ध में छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के वीर सूपतों ने भी अपनी मातृभूमि की सेवा के लिए तन-मन न्यौछावर कर दिया। युद्ध के दौरान जवानों में मातृभूमि की रक्षा के लिए गजब का जोश और उत्साह देखने को मिला।

यह कहना है कि पूर्व सैनिक सेवा परिषद के जिलाअध्यक्ष केपी साहू का। उन्होंने बताया कि कारगिल युद्ध के दौरान उन्हें भी मातृभूमि की सेवा करने का मौका मिला। वे बीते दिनों को याद करते हुए रोमांचित हो उठे। वर्ष-1999 की बात है। मई-जून के महीने में जम्मू-कश्मीर की कारगिल पहाड़ी बर्फ से पूरी तरह से ढका हुई थी। माइनस 60 डिग्री तापमान में भी भारतीय सैनिक साहस का परिचय देते हुए भारत-पाकिस्तान के बार्डर में ड्यूटी कर रहे थे। इसी दरम्यान पाकिस्तानी सैनिक बर्फ का फायदा उठाकर कारगिल क्षेत्र में बंकर बनाकर गोला-बारूद रखने लगे।

चपरासी ने ऑफिस में पी शराब, फिर नशे की हालत में निगम अधिकारी को जमकर पीटा, देखिए वीडियो

इस बीच एक गड़रिया कारगिल क्षेत्र में भेड़-बकरियों को चराने के लिए ले जा रहा था, तभी उसे सिगरेट का एक पैकेट मिला, जिसमें मेड इन पाकिस्तान लिखा था, फिर क्या था, तत्काल उसने इसकी सूचना सैनिक छावनी के प्रमुख कमांडर को दी। सूचना मिलने पर सैनिक सतर्क हो गए। इस दौरान रेकी करने के लिए भारतीय सैनिक जैसे ही कारगिल क्षेत्र में प्रवेश किए। पाकिस्तानी सैनिकों ने उन पर बेरहमी से गोलियां दाग दी। हमारे कई जवान शहीद हो गए।

सीना हुआ ऊंचा
उधर भारतीय सैनिकों को जैसे ही इसकी सूचना मिली, भारत सरकार ने युद्ध का ऐलान कर दिया। करीब 60 दिनों तक चले इस युद्ध में पाकिस्तान की करारी हार हुई। कारगिल विजय करने के बाद भारतीय सैनिकों का सीना गर्व से ऊंचा हो उठा।

यात्री की तबीयत बिगड़ने पर इंडिगो विमान की रायपुर एयरपोर्ट पर इमरजेंसी लैंडिंग

जान देने के लिए तैयार
कारगिल युद्ध मेंं धमतरी जिले के वीर सैनिक मुरारीलाल साहू, अरूण साहू, चंद्रकुमार साहू, जोहरलाल मंडावी, अश्वनी पाटकर, तुलसीराम साहू, लक्ष्मीनारायण सोनकर, कमलेश साहू ने भी महती भूमिका निभाई। उनका कहना है कि जब भी देश की एकता और अखंडता की रक्षा की बात आएगी, वे अपना सर्वस्व न्यौछावर करने के लिए तैयार रहेंगे।Kargil Vijay Diwas

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned