खूंखार तेंदुए ने घोड़े के झुण्ड पर किया हमला, ग्रामीणों में दहशत

तेन्दुए का खौफ सता रहा है। ऐसा लगता है वन विभाग किसी बडे हादसे का इन्तजार कर रहा है।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 24 May 2020, 12:31 PM IST

धमतरी/नगरी. तेन्दुए का आतंक कम नही हो रहा आए दिन कही न कही पालतू जानवरो को शिकार कर मौत के घाट उतार रहा वन विभाग द्वारा तेन्दुए को पकडने कोई ठोस पहल नही किया जा रहा। जिसके चलते नगरी क्षेत्र के अधिकांस ग्रामो मे तेन्दुए का खौफ सता रहा है। ऐसा लगता है वन विभाग किसी बडे हादसे का इन्तजार कर रहा है।

नगरी विकासखंड मुख्यालय से महज 10 की मी की दूरी पर ग्राम पंचायत उमरगाव इन दिनो जंगली जानवरो के हमले से घबरा गया है। दो दिन के अंदर ग्राम मे तीन हमले के शिकार हो गये। जिसमे घोडे के झुण्ड मे तेन्दुए ने हमले कर सप्ताह भर के दुध मुहे घोडे के बच्चे को अपना शिकार बना लिया और बचे हुए अवशेष को वही छोड गया। जिसे ग्रामीणो द्वारा अवशेष को दफना दिया गया। 23 मई को शाम7 बजे के आसपास फिर तेन्दुआ आ धमका और ग्राम उमरगाव निवासी टिकेश दास पिता माधव दास के पालतू घोडे के एक माह के बच्चे को अपना शिकार बना लिया।

उमरगाव निवासी अधीन नेताम व उनकी पत्नी सोनई बाई जंगल शाल बीज चुनने गए थे। जहां सोनई बाई के उपर भालू ने जानलेवा हमला कर दिया। ग्रामीणों का कहना है की ग्राम से जंगल लगा हुआ है व हिसक पशु को यहा शिकार का आदत हो गया जिसके चलते तेन्दुआ इस जगह को छोड नही रहा वन विभाग के पास इन्हे पकडने का कइ अवसर आये मगर पकड नही रहे समझ से परे।

Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned