रिकॉर्ड मतदान के बाद बौखलाए नक्सली दे सकते है बड़ी वारदात को अंजाम, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

रिकॉर्ड मतदान के बाद बौखलाए नक्सली दे सकते है बड़ी वारदात को अंजाम, पुलिस ने बढ़ाई सुरक्षा

Bhawna Chaudhary | Publish: Apr, 29 2019 12:31:26 PM (IST) | Updated: Apr, 29 2019 12:31:28 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में रिकार्ड मतदान के बाद नक्सली बौखला गए हैं। खुफिया सूत्रों के अनुसार वे किसी भी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। ऐसे में सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में रिकार्ड मतदान के बाद नक्सली बौखला गए हैं। खुफिया सूत्रों के अनुसार वे किसी भी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। ऐसे में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। सीआरपीएफ और पुलिस बल संयुक्त रूप से सर्चिंग कर रहे हैं। संदिग्ध लोगों पर नजर रखी जा रही है।

नक्सलियों के चुनाव बहिष्कार की घोषणा के बाद भी जिले में लोकसभा चुनाव में रिकार्ड ७४ फीसदी मतदान हुआ। विशेषकर नक्सल प्रभावित 120 मतदान केन्द्रों में मतदाता खुलकर सामने आए और अपने मताधिकार का प्रयोग किया। निर्वाचन सूत्रों के मुताबिक यहां नक्सल प्रभावित ग्राम करही के मतदान केन्द्र में सर्वाधिक 90 फीसदी मतदान हुआ है। इसी तरह जोरातराई में 70 फीसदी, आमाबहार में 85 फीसदी तथा रिसगांव में 80 फीसदी मतदान दर्ज किया गया।

खल्लारी और आमझर में भी इस बार रिकार्ड मतदान होने की खबर हैं। यहां जंगल के बीच रहने वाले ग्रामीणों ने 5 से लेकर 12 किमी दूर तक पैदल चलकर लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए मतदान किया। पुलिस के खुफिया सूत्रों के अनुसार भारी मतदान होने के बाद नक्सलियों में बौखलाहट हैं। ऐसे में वे बदले की भावना से कोई भी वारदात कर सकते हैं। शायद यही कारण है कि पुलिस ने इस क्षेत्र में अपनी सर्चिंग तेज कर दी है। उल्लेखनीय है कि इस क्षेत्र में सीतानदी दलम, गोबरा दलम जैसेे नक्सली संगठन काफी सक्रिय हैं।

 

करते रहे हैं दहशत पैदा
नक्सली कमांडर सत्यम गावड़े उर्फ सुरेन्दर के अलावा रूपेश उर्फ नरेश, प्रवीण, टीकेश उर्फ टिकेश्वर, जानसी उर्फ मीना गावड़े, राजू, रामदास, प्रमिला उर्फ गणेशी, शांति उर्फ देवे का क्षेत्र में मजबूत नेटवर्क है। वे समय-समय पर बैनर-पोस्टर तथा पेड़ काटकर दहशत भी पैदा करते रहे हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned