प्रभारी की बैसाखी पर चल रहे हैं कई विभाग, सत्ता का मिला है संरक्षण

प्रभारी की बैसाखी पर चल रहे हैं कई विभाग, सत्ता का मिला है संरक्षण

Deepak Sahu | Publish: Sep, 03 2018 02:33:49 PM (IST) Dhamtari, Chhattisgarh, India

कुछ अधिकारियों पर तो जनप्रतिनिधियों को सरंक्षण प्राप्त है।

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले के आधा दर्जनभर से अधिक शासकीय कार्यालय प्रभारी अधिकारियों के भरोसे संचालित हो रहे है।कुछ अधिकारियों पर तो जनप्रतिनिधियों को सरंक्षण प्राप्त है।फुलफ्लेस अधिकारी नहीं होने से आरटीओ, जिला अस्पताल समेत अन्य कार्यालयों का काम काज भी प्रभावित हो रहा है।

बता दे कि विधानसभा चुनाव नजदीक आ गया है, इसलिए तीन सालों से जमे अधिकारियों को यहां से दूसरे जिलों में स्थानांतरित किया जा रहा है। लेकिन जो अधिकारी-कर्मचारी सालों से प्रभार पर हैं, उन पर कुछ कार्रवाई नहीं हो रही, इसलिए उनके हौसले भी बुलंद है।

साथ ही उनके सिर पर जनप्रतिनिधियों का हाथ होने से वे पद का दुरूपयोग भी कर रहे हैं। लगातार इसकी शिकायत मिल भी रही है, लेकिन राजनीतिक हस्तेक्षप अधिक होने के कारण यहां के जवाबदार अधिकारी भी चाह कर कुछ नहीं कर पा रहे हैं।प्रभारी अधिकारियों के चलते शासकीय कार्यालयों में लोगों का समय पर काम भी नहीं हो रहा है। उन्हें बार-बार चक्कर काटने के लिए मजबूर किया जाता है। ऐसे लोगों को बाद जनदर्शन का सहारा लेना पड़ता है।

चल रही मनमानी
रोजगार कार्यालय में रोजाना बड़ी संख्या में युवक और युवतियां शैक्षणिक प्रमाण पत्रों का पंजीयन कराने के लिए आते हैं। यह कार्यालय पिछले तीन सालों से प्रभारी अधिकारी के भरोसे चल रहा है। जवाबदार अधिकारी नहीं होने से कर्मचारियों पर पकड़ भी नहीं है। वे अपनी मर्जी से आते-जाते हैं। जिला अस्पताल भी प्रभारी सिविल सर्जन हैं। यहां के कुछ डॉक्टरों का भी आने-जाने का निश्चित समय नहीं रहता, जिससे मरीजों को परेशानी होती है।

कलक्टर डॉ सीआर प्रसन्ना ने बताया कि विभिन्न शासकीय विभागों में फुलफ्लेश अधिकारियों की नियुक्ति के लिए शासन से मांग की गई है। जल्द ही नियुक्ति होने की संभावना है।

फैक्ट फाइल

विभाग प्रभारी अधिकारी
आरटीओ एआर ओगरे (अपर कलक्टर)
रोजगार कार्यालय पुष्पा चौधरी सहायक संचालक
सहायक अधीक्षक भूमि अभिलेख केआर साहू
जिला अस्पताल पीसी ठाकुर
अधीक्षक कलक्ट्रेट एन परमार
Ad Block is Banned