घर में बहू के आने से पहले हुई ये अनहोनी, एकसाथ उठी मां और बेटे की अर्थी

Ashish Gupta

Publish: Jan, 13 2018 08:14:25 PM (IST) | Updated: Jan, 13 2018 08:15:30 PM (IST)

Dhamtari, Chhattisgarh, India
घर में बहू के आने से पहले हुई ये अनहोनी, एकसाथ उठी मां और बेटे की अर्थी

छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है, यहां मां-बेटे की उनके घर में किसी ने नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी।

धमतरी. पुलिस की लगातार पेट्रोलिंग करने तथा अपराधियों पर शिकंजा कसने का दावा उस समय खोखला सिद्ध हो गया, जब शहर से लगे ग्राम रत्नाबांधा में मां-बेटे की किसी ने नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी। उल्लेखनीय है इससे पहले ग्राम खपरी में मां-बेटी और ग्राम तेलीनसत्ती में पति-पत्नी और उसके बेटे की भी किसी ने धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। इन घटनाओं में लिप्त अपराधी आज भी पुलिस को चुनौती देते हुए खुलेआम घूम रहे हैं।

पिछले दिनों आईजी प्रदीप गुप्ता के निर्देश के बाद एसपी रजनेश सिंह ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस की सक्रियता बढ़ा दी थी। इसके अंतर्गत लगातार शहर तथा जिले के अन्य संवेदनशील क्षेत्रों में पेट्रोलिंग की जा रही थी।

 

Mother and son brutally murdered

पुलिस के आलाधिकारियों ने दावा किया था कि अपराधियों पर शिकंजा कसने से अपराध में कमी आई है। दूसरी ओर गुरुवार देर रात हुए डबल मर्डरकेस ने पुलिस की पोल खोल दी है। ज्ञात हो कि महिला अमृता बाई (४८) पति रामलाल नगारची और उसके १९ साल के बेटे दिनेश कुमार की किसी ने धारदार हथियार से नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी। इस घटना की जानकारी शुक्रवार शाम ५ बजे उस समय हुई, जब बड़ी बेटी सविता घर आई और दरवाजा खोलने के लिए कहा।

 

Mother and son brutally murdered

अंदर से कोई आवाज नहीं आने पर वह पीछे छत से अंदर गई, तो कमरे में बिस्तर में भाई दिनेश कुमार की औंधे मुंह रक्तरंजित लाश मिली। नीचे मां की लाश भी खून से लथपथ स्थिति में मिली। उसकी चीख-पुकार सुनने के बाद आसपास के लोग आ गए। तत्काल इसकी सूचना अर्जुनी पुलिस को दी गई। थाना प्रभारी ने अपने आलाधिकारियों को इसकी जानकारी देकर घटनास्थल पर पहुंच गए। सविता नगारची ने बताया कि उसकी मां भाई दिनेश के लिए पिछले कुछ दिनों से बहू की तलाश में थी। वह जल्द ही उसकी शादी कर अपना कर्तव्य पूरा करना चाहती थी।

 

Mother and son brutally murdered

मिले पैर के निशान
पुलिस को संदेह है कि इस घटना में लिप्त अपराधी का मृतकों के साथ संबंध रहा होगा। शायद यही कारण है कि वह घर की स्थिति से अच्छी तरह से वाकिफ था। घटना को अंजाम देने के बाद वह मुख्य दरवाजे से नहीं निकलकर छत के रास्ते बाहर निकला। पुलिस को उसके पैर के निशान भी मिले हैं। पुलिस का कहना है कि अपराधी जो भी होगा, वह जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

करते थे मजदूरी
पुलिस को प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि अमृता बाई का पति कोटवार था। उसकी ९ साल पहले मौत हो गई थी। इसके बाद वह अपने बेटे दिनेश के साथ रहती थी। दोनों मेहनत-मजदूरी कर अपना परिवार चलाते थे। उनकी तीन बेटियां और थी, जिसमें से एक बेटी रत्नाबांधा में ही अपने पति के साथ रहती थी। किसी के साथ विवाद की कोई जानकारी नहीं मिली है।

Mother and son brutally murdered

फॉरेंसिक एक्सपर्ट रिपोर्ट से होगा खुलासा
इस बीच एसपी रजनेश सिंह, एएसपी केपी चंदेल समेत पुलिस के अन्य अधिकारी भी वहां आ गए। उन्होंने बारीकी से घटना स्थल का मुआयना किया। पुलिस ने बताया कि चूल्हा में एक बर्तन में भोजन पका हुआ पड़ा मिला। पास ही शराब की बोतल भी मिली। स्थिति को देखते हुए जांच के लिए कई बिंदु तय किए गए हैं। हालांकि रात हो जाने के कारण कमरे को सील कर दिया गया है। बताया गया है कि शनिवार को फॉरेंसिक एक्सपर्ट और डिटेक्टिव डॉग को बुलाया गया है। इसके बाद जांच कार्रवाई में तेजी आएगी।

 

Mother and son brutally murdered

आपस में था खून का रिश्ता
गौरतलब है कि पिछले दो सालों में यह तीसरी घटना है, जिसमें अपराधी ने बड़े सुनियोजित तरीके से हत्या की है। इसके पूर्व खपरी में महिला रूखमणी बाई (48) और उसकी बेटी पार्वती महार (25) की धारदार हथियार से हत्या की गई थी। पिछले साल ग्राम तेलीनसत्ती में टेलर महेन्द्र सिन्हा (38), पत्नी उषा बाई (36) और उसके बेटे महेश कुमार (12) की भी नृशंसतापूर्वक हत्या कर दी गई थी। सबसे गौर करने वाली बात यह है कि इन घटना में जिनकी भी हत्या हुई है, उनका आपस में खून का रिश्ता रहा है। और संयोग से तीनों घटनाएं अर्जुनी थानांतर्गत ही हुई है।

एसपी रजनेश सिंह ने कहा कि पुलिस ने घटना स्थल को सील कर दिया है। कुछ लोगों से पूछताछ की गई है। घटनास्थल से कुछ सुराग मिला है, जिसके आधार पर पुलिस अपनी जांच कर रही है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned