कमरा खुला तो मां-बेटे की खून से लथपथ मिली लाश, पुलिस ने मर्डर की बताई ये बड़ी वजह

Ashish Gupta

Publish: Jan, 14 2018 07:21:31 PM (IST)

Dhamtari, Chhattisgarh, India
कमरा खुला तो मां-बेटे की खून से लथपथ मिली लाश, पुलिस ने मर्डर की बताई ये बड़ी वजह

मां-बेटे की नृशंस हत्या की गुत्थी पुलिस 48 घंटे के बाद भी नहीं सुलझा सकी है। फारेंसिक एक्सपर्ट की टीम घटनास्थल का मुआयना किया।

धमतरी. मां-बेटे की नृशंस हत्या की गुत्थी पुलिस 48 घंटे के बाद भी नहीं सुलझा सकी है। फारेंसिक एक्सपर्ट की टीम घटनास्थल का मुआयना किया। डॉग स्क्वाड की भी मदद ली गई। पुलिस का कहना है कि जल्द ही पुलिस का हाथ कातिल तक पहुंच जाएगा। एक जानकारी के अनुसार पूछताछ के लिए कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। उधर, इस घटना से दहशत का माहौल है।

 

Murder of mother and son in Ratnabandha

ये है पूरा मामला
उल्लेखनीय है कि शहर से लगे ग्राम रत्नाबांधा में गुरूवार की रात किसी ने महिला अमृता नागरची (50) और उसके बेटे दिनेश नागरची (19) की घर में ही हत्या कर दी। दूसरे दिन शुक्रवार को शाम तक जब घर का दरवाजा नहीं खुला, तब इस हत्याकांड का खुलासा हुआ। रात में एसपी रजनेश सिंह समेत जिले के तमाम वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने मौका मुआयना करने के बाद घर को सील कर दिया।

Murder of mother and son in Ratnabandha

शनिवार को सुबह 10 बजे राजधानी रायपुर से फारेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने पहुंचकर सघन जांच-पड़ताल की। फारेसिंग एक्सपर्ट एस. मिश्रा और मातहत अधिकारियों ने मौके से अलग-अलग जगह का ब्लड सेम्पल भी उठाया। कमरे और छत की अच्छी तरह से पड़ताल की। और वीडियोग्राफी, फोटोग्राफी के बाद लाश को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भिजवा दिया। सुराग ढूंढने के लिए डॉग स्क्वाड की भी मदद ली गई।

पुलिस ने बताया कि डिक्टेटिव डॉग स्मेल सूंघते हुए करीब 6 सौ मीटर दूर तक कालेज रोड में गया। यहां अटल आवास स्वागत द्वार के पास एक गड्डे तक आकर रूक गया। पुलिस ने गडïडे में तलाशी भी की, लेकिन कुछ नहीं मिला। कोतवाली पुलिस की टीम ने घटनास्थल से खाली शराब की शीशी, टूटी हुई चूड़ी, कांच आदि के साथ कुछ अन्य साक्ष्य भी इकट्ठा किया है। कमरे में एक 9 नंबर की चप्पल भी मिली है। पुलिस ने बेटी-दामाद समेत अन्य रिश्तेदारों से भी प्रारंभिक पूछताछ की, पर उन्हें कोई खास क्लू नहीं मिल सका।

Murder of mother and son in Ratnabandha

हाथ और कलाई में चोट के निशान
पुलिस ने बताया कि मां और बेटे के हाथ और कलाई में चोट के निशान पाए गए है। इस घटना में एक से ज्यादा लोग रहे होंगे। वे पहले मृतक दिनेश के साथ शराब पिएं होंगे, इसके बाद किसी बात को लेकर विवाद हुआ होगा। तैश में आकर आरोपियों ने उस पर वार कर दिया होगा। बाजू कीचन में खाना बना रही मां बीच-बचाव में आई होगी, तो उसे भी मौत की नींद सुला दिया गया।

जांच के लिए बनी अलग-अलग टीम
पुलिस सूत्रों के अनुसार इस दोहरे हत्याकांड से पुलिस के आला अधिकारी भी परेशान हो गए है। आईजी ने इस घटना के बारे में जानकारी लेने के बाद कातिलों को किसी भी हाल में गिरफ्तार करने का निर्देश दिया है। एसपी रजनेश सिंह ने अपने मातहत अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा कर जांच के लिए अलग-अलग टीम बना दिया है। पुलिस के जवान सादे वेश में जानकारी एकत्रित कर रहे हैं। मुखबिरों का जाल भी फैला दिया गया है।

Murder of mother and son in Ratnabandha

मोबाइल से की थी बात

पुलिस सूत्रों के मुताबिक घटना के पहले करीब साढ़े 9 बजे मृतक दिनेश नागरची अपनी मोबाइल से आधे घंटे तक किसी लड़की से बातचीत किया था। मौके से मृतक का मोबाइल नंबर तो नहीं मिला, लेकिन उसके नंबर को ट्रेस करने पर चला कि वह नंबर ग्राम धौराभाठा का है तथा मृतक से उस लड़की की शादी की बातचीत चल रही थी।

एसपी रजनेश सिंह पुलिस मामले की जांच में सरगर्मी से जुटी हुई है। कुछ लोगों से पूछताछ की गई है। आसपास लगे सीसी टीवी कैमरा भी खंगाला जा रहा है। कातिल जो भी होगा, जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Ad Block is Banned