खत्म हुआ 125 साल पुरानी छोटी ट्रेन का सफर, यात्रियों का दर्द आ रहा सामने

खत्म हुआ 125 साल पुरानी छोटी ट्रेन का सफर, यात्रियों का दर्द आ रहा सामने

Chandu Nirmalkar | Updated: 14 Jul 2019, 02:55:06 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

Dhamtari News: उल्लेखनीय है कि रेलवे प्रशासन ने तीन चरणों में इस सेवा पर ब्रेक (125 years old small train) लगाया है।

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले (Dhamtari district) से केन्द्री के बीच चलने वाली छोटी ट्रेन की रेलवे सेवा (Indian Railway) को भी बंद कर दिया गया है। इससे यात्रियों में रोष व्याप्त है। उनका कहना है कि पहले हम 13 रूपए में रायपुर तक पहुंच जाते थे। अब इसके लिए 80 रूपए खर्च करना पड़ेगा। उल्लेखनीय है कि रेलवे प्रशासन ने तीन चरणों में इस सेवा पर ब्रेक (125 years old small train) लगाया है।

करीब 125 साल पहले 1896 में रायपुर से धमतरी, व्हाया होते नगरी तक छोटी ट्रेन के लिए पटरी बिछाई गई थी। काफी सालों तक इस ट्रेन के जरिए स्लीपर की सप्लाई होती थी। इसके बाद टे्रन को यात्रियों की सेवा के लिए उपयोग में लाना शुरू कर दिया गया। धमतरी से रायपुर के बीच करीब 13 स्टेशनों में यात्री आना-जाना करते थे।

 

Dhamtari news

इस ट्रेन से धमतरी के अलावा संबलपुर, सरसोपुरी, सांकरा, कुरूद, सिर्री, अभनपुर के यात्री विशेषकर मजदूर वर्ग के लोग रोजी-रोटी कमाने के लिए रायपुर आना-जाना करते थे। आज से करीब एक महीना पहले दोपहर 12 बजे चलने वाली ट्रेन को अचानक बंद कर दिया गया। इसके बाद शाम को 6 बजे चलने वाली सेवा पर भी ब्रेक लगा दिया गया। इससे नागरिकों को काफी असुविधा होने लगी।

प्रारंभ में रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि मेंटनेंस के चलते यह सेवा कुछ दिनों के लिए स्थगित की गई है। यात्रियों ने भी उनकी बात पर भरोसा कर लिया। इस बीच फिर गुरूवार को अचानक सुबह 7 बजे चलने वाली ट्रेन को भी बंद कर दिया गया। इससे यात्रियों में रोष फैल गया। उनका कहना था कि रेलवे प्रशासन ने मनमानी करते हुए छोटी टे्रन सेवा से हजारों लोगों को वंचित कर दिया।

फिर से करेंगे आंदोलन
धमतरी विकास मंच के अध्यक्ष शरीफ रोकडिय़ा समेत संस्था से जुड़े विनोद जैन, मुश्ताक खोखर, श्रवण मरकाम, शिवदयाल शर्मा, अशोक साहू, राजेश लिखी ने पत्रिका से चर्चा करते हुए बताया कि छोटी टे्रन बंद होने के मामले में जल्द ही एक प्रतिनिधि मंडल रायपुर जाकर डीआरएम से मिलेगा और उन्हें यात्रियों को होने वाली असुविधा से अवगत कराएगा। जरूरत पडऩे पर ब्राडगेज के लिए फिर से आंदोलन शुरू किया जाएगा।

यात्रियों का दर्द
यात्री मुकुल शर्मा, प्रभुदयाल, आनंदराम कुकरेजा, मनोहर सिन्हा, सुरतिन बाई, कमल निषाद ने बताया कि वे प्रतिदिन इस छोटी टे्रन से रायपुर आना-जाना करते थे। पिछले दो साल से केन्द्री तक इस टे्रन में सफर करने के बाद वहां से बस के जरिए रायपुर जाते थे, फिर बस से ही केन्द्री आकर टे्रन में सवार होकर अपने गतंव्य में आ जाते थे। इस यात्रा में किराया के रूप में सिर्फ 20 रूपए खर्च होता था। अब बस में रायपुर आने-जाने में 80 रूपए खर्च करना पड़ेगा।

मंत्री की वादा खिलाफी
उल्लेखनीय है कि पिछले विधानसभा चुनाव के दौरान तत्कालीन केन्द्रीय रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ब्राडगेज के निर्माण के लिए भूमिपूजन किया था। उन्होंने आश्वस्त किया था कि जल्द से जल्द ब्राडगेज का काम शुरू हो जाएगा। बाद में इस बड़ी रेल लाइन का विस्तार जगदलपुर तक किया जाएगा। चुनाव हुए करीब 7 महीना हो गए, लेकिन इस दिशा में अभी तक कोई काम शुरू नहीं हुआ है।

टेंडर के बाद भी काम नहीं
रेलवे सूत्रों के अनुसार धमतरी में करीब 70 करोड़ की लागत से गुड्स टर्मिनल बनना था। इसके लिए निर्माण सामग्री भी डंप कर ली गई। और तो और रेलवे प्रशासन ने 120 अवैध कब्जों को भी हटा दिया। यह काम भी टेंडर होने के बावजूद शुरू नहीं हुआ। ऐसे में नागरिकों को संशय होने लगा है कि ब्राडगेज का काम शुरू होगा कि नहीं।

धमतरी से केन्द्री के बीच चलने वाली छोटी टे्रन बंद होना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है। इस संबंध में रेलवे के उच्चाधिकारियों से मिलकर चर्चा करूंगी। यात्रियों को बेहतर रेल सुविधा मिले, इस दिशा में मेरा पूरा प्रयास रहेगा।
रंजना साहू, विधायक

छोटी ट्रेन सेवा बंद होने की जानकारी प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को दी जाएगी। उम्मीद है कि राज्य सरकार के हस्तक्षेप के बाद या तो ब्राडगेज का काम जल्द शुरू होगा, या फिर यह सेवा फिर से शुरू हो जाएगी। मोहन लालवानी, जिला कांग्रेसाध्यक्ष

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned