बांध परिसर में प्रतिबंध, फिर भी सैलानी पहुंच रहे गंगरेल बांध का लुत्फ उठाने

बांध परिसर में प्रतिबंध, फिर भी सैलानी पहुंच रहे गंगरेल बांध का लुत्फ उठाने

Deepak Sahu | Publish: Sep, 03 2018 01:47:05 PM (IST) Dhamtari, Chhattisgarh, India

गंगरेल में यहां की हरी-भरी वादियों को निराहने के लिए सैलानियों की भारी भीड़ रही।

धमतरी. छत्तीसगढ़ में अच्छी बारिश होने से गंगरेल बांध में लबालब पानी भर गया है।रविवार को गंगरेल में यहां की हरी-भरी वादियों को निराहने के लिए सैलानियों की भारी भीड़ रही।हालांकि बांध में क्षेत्र में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने से उन्हें मायुसी जरूर हुई।लेकिन यहां के नजारों को देखकर वे रोमांचित हो उठे।बता दे कि पिछले साल की अपेक्षा इस साल प्रदेश में मानसून मेहरबान रहा है। बांध के कैचमेंट एरिया में अच्छी बारिश होने से गंगरेल समेत चारों बांधों में पानी की आवक लगातार बनी हुई है।

मौसम खुशनुमा होने के चलते सैलानी अब बांध क्षेत्र को निहारने के लिए आने लगे हैं।रविवार को छुट्टी का दिन होने के चलते गंगरेल बांध में सैलानियों का रेला लगा रहा। धमतरी समेत रायपुर, दुर्ग-भिलाई, राजनांदगांव, कांकेर समेत बिलासपुर से भी बड़ी संख्या में सैलानियों यहां के रोमांचित कर देने वाले नजारों को देखकर उसे अपने कैमरों में कैद किया। सैलानी राजेध वाधवानी (राजनादगांव) , पिंकी माखीजा ने बताया कि गंगरेल बांध में लबालब पानी भरे होने से यहां का दृश्य सुहाना लग रहा है।ज्योति यादव, कविता रायचुरा ने बताया कि अच्छी बारिश होने से वे बांध के मनोरम दृश्य को देखने के लिए यहां पहुंची हैं।

औषधियों की मिली जानकारी
सैलानियों ने वेंडवेंचर कैम्प का भी मजा लिया। तृप्ति देवांगन, आशीष तिवारी ने बताया कि मानव वन में सप्तऋषि वन, सात बहन वन, नक्षत्र वन, राशि वन, औषधि वन ने उन्हें काफी आकर्षित किया। इसके अलावा आयुर्वेद गार्डन से उन्हें आयुर्वेदित औषधियोंं के बारे में जानकारी मिली।रानी, माही (12) का कहना है कि चीतल और कोटरी समेत अन्य जीवों को देखने में उसे खूब आनंद आया।

रोप वाकिंग का आनंद
गंगरेल में सैलानियों को साहसिक खेलों का स्ट्रूमेंट भी खूब लुभा रहा है। रोमांचक खेलों के शौकीन लोगों के लिए यहां अनेक सुविधाएं जुटाई गई है।2 सैलानी नरेश आहुजा, विक्की अग्रवाल ने बताया कि उन्हें वाल क्लोमिंग, कमांडो नेट, रैप्लिंग, झीप लाईन के रोमांच का रोमांच का लुत्फ उठाया।इसके अलावा बर्मा ब्रिज, डायर ब्रिज, बीम्प ब्रिज, पटिया ब्रिज भी युवाओं को आकर्षित कर रहा है।यहां रोप वाकिंग का आनंद लेने के लिए देर शाम तक सैलानियों की भीड़ लगी रही।

Ad Block is Banned