छत्तीसगढ़ के इस शहर के व्यापारियों को इन वजहों से सता रहा GST

Ashish Gupta

Publish: Sep, 11 2017 06:06:00 (IST)

Dhamtari, Chhattisgarh, India
छत्तीसगढ़ के इस शहर के व्यापारियों को इन वजहों से सता रहा GST

जीएसटी रिटर्न भरने को लेकर व्यापारियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उनका कहना है कि रिटर्न भरने में समय लगने से व्यापार प्रभावित हो रहा है।

धमतरी. जीएसटी रिटर्न भरने के मामले में धमतरी जिले के व्यापारी लगातार पिछड़ते जा रहे हैं। उनका कहना है कि एक महीने में 3 बार रिटर्न भरने की प्रक्रिया पूरी करने में 10 से 15 दिन लग रहे हैं। ऐसे में वे चाहकर भी अपना व्यापार नहीं कर पा रहे। दूसरी ओर शासन ने उन्हें रिटर्न दाखिल करने के लिए और रियायत दे दी है।

केंद्र सरकार ने जीएसटी को लागू तो कर दिया है, लेकिन इसमें कई प्रकार की समस्याएं होने के कारण रिटर्न भरने में व्यवसायी रुचि नहीं ले रहे हैं। प्रशिक्षण कार्यक्रम, कार्यशाला सहित अन्य प्रकार के आयोजनों के बाद भी व्यवसायी अब तक जुलाई माह का पहला रिटर्न (जीएसटी 3 बी) दाखिल नहीं कर पाए हैं। स्थिति को देखते हुए एक बार फिर शासन ने रिटर्न भरने की तिथि में बढ़ोत्तरी कर दी है।

जीएसटी आर-२ भरने की तिथि भी बढ़ाकर 25 सितंबर कर दी गई है। जीएसटी रिटर्न भरने के मामले में अब भी धमतरी जिला पूरे देश में सबसे पीछे है। यहां पर 7200 पंजीकृत व्यापारी है, जिसमें से 24 सौ व्यापारियों ने माईग्रेशन ही नहीं किया है। अब तक की स्थिति देखें तो जिले में 40 प्रतिशत से ज्यादा व्यापारी रिटर्न दाखिल नहीं कर पाए हैं।

उधर जीएसटी 3 बी और और आर-1 भरने की अंतिम तिथि 10 सिंतबर थी। इसमें व्यापारियों को सभी बिल पेश करने थे। पिछले पांच दिन से व्यापारी इसी काम में लगे हुए थे। इसके बाद भी रिटर्न दाखिल करने से कई व्यापारी चूक गए। इस पर उन्हें चार्ज देना पड़ेगा।

कम नहीं हो रही परेशानी
व्यापारी लिखेश संघवी, केदार साहू, दीनदयाल सिन्हा, जितेंद्र जगताप सहित अन्य ने बताया कि जीएसटी को लेकर व्यापारियों की परेशानी दूर नहीं हो रही है। हर माह चार रिटर्न दाखिल करना है। एक रिटर्न की प्रक्रिया पूरी करने में कम से कम 3 दिन लगता है। ऐसे में महीने में 10-12 दिन तो रिटर्न की प्रक्रिया पूरी करने में बीत रहा है। अभी तक अधिकांश व्यापारी जुलाई माह का पहला और दूसरा रिटर्न दाखिल नहीं कर पाए हैं और तीसरा रिटर्न भरने की तिथि आ गई है।

वाणिज्यक कर अधिकारी रामनरेश चौहान ने कहा कि व्यापारियों को रिटर्न दाखिल करने के लिए लगातार प्रेरित किया जा रहा है। छुट्टी के दिन भी व्यापारियों की मदद के लिए दफ्तर खुला हुआ है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned