...तो अगले सत्र में बंद हो जाएगा राजीव गांधी शिक्षा मिशन

...तो अगले सत्र में बंद हो जाएगा राजीव गांधी शिक्षा मिशन

Chandu Nirmalkar | Publish: Feb, 15 2018 05:17:18 PM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 05:24:57 PM (IST) Dhamtari, Chhattisgarh, India

इसके अलावा कई लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

धमतरी. अगले शिक्षण सत्र से राजीव गांधी शिक्षा मिशन बंद हो जाएगा। केन्द्र सरकार ने इसका आदेश राज्य सरकार को भी दे दिया है। राजीव गांधी शिक्षा मिशन बंद होने से बालिका शिक्षा, घुमंतू बच्चों की शिक्षा समेत अन्य प्रोजेक्ट प्रभावित होगा। इसके अलावा कई लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी शिक्षा मिशन केन्द्र सरकार द्वारा संचालित है। इस मिशन का मुख्य उद्देश्य शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाना है। जिले में 880 प्राथमिक और 445 माध्यमिक शाला है। इन स्कूलों की देख-रेख राजीव गांधी शिक्षा मिशन की जिम्मेदारी है। पहले जिले में शिक्षा की गुणवत्ता का बुराहाल था, लेकिन अब गुणवत्ता में काफी सुधार आ गया है।

बीआरसी के माध्यम से शिक्षकों को प्रशिक्षण देकर छात्र-छात्राओं को अध्यापन कराया जा रहा है। इसके अलावा दिव्यांग छात्रों की शिक्षा पर भी फोकस किया गया है। ऐसी स्थिति में राजीव गांधी शिक्षा मिशन बंद होता है, तो जिले की शिक्षा व्यवस्था पर काफी गहरा प्रभाव पड़ेगा।

स्कूलों में चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रम भी प्रभावित होंगे। उल्लेखनीय है कि राजीव गांधी शिक्षा मिशन के तहत पिछले कई सालों से शिक्षा के विकास की दिशा में कई महत्वपूर्ण योजनाओं के माध्यम से छात्र-छात्राओं का शैक्षणिक स्तर ऊंचा उठा है। ऐसी चर्चा है कि लगातार मिल रही शिकायत के कारण ही इसे बंद किया जा रहा है।

रोजगार की चिंता
सूत्रों की माने तो राजीव गांधी शिक्षा मिशन में कार्यरत अधिकांश कर्मचारी संविदा नियुक्ति पर हैं। यह मिशन बंद होता है, तो उनकी नौकरी भी चली जाएगी। इसलिए उन्हें अब अपने रोजगार की चिंता सताने लगी है। बीआरसी में तो अभी से कर्मचारियों की संख्या कम हो गई है।

राजीगांधी शिक्षा मिशन को अगले सत्र से बंद करने की चर्चा चल रही है। लिखित में इसकी जानकारी नहीं मिली है।
विपिन देखमुख, अधिकारी राजीव गांधी शिक्षा मिशन

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned