काम नहीं मिलने से मजबूरी में जंगल की लकड़ी काटकर बेच रहे ग्रामीण

Tikeshwar Chaudhary

Updated: 29 Apr 2019, 05:46:21 PM (IST)

Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

धमतरी। मनरेगा काम नहीं खुलने से मजदूर मजबूरी में जंगल में लकड़ी की कटाई कर रहे हैं। पिछले 12 सालों में पहली बार ऐसी स्थिति मोहंदी में निर्मित हुई है । जंगल को अवैध कटाई से बचाने सरपंच ने तत्काल कलेक्टर से गांव में काम खुलवाने की गुहार लगाई।

सोमवार को कलेक्टर से मिलने पहुंचे मगरलोड ब्लाक के सरपंच श्रवण साहू ने कहा कि खरीफ सीजन में धान कटाई के बाद गांव में कोई काम नहीं है। ग्रामीण मजदूर ठेलहा बैठे हैं । ग्राम पंचायत बार-बार जनपद, जिला पंचायत से काम की मांग कर रहे लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही। ऐसे में मजबूरी में मजदूर अब जंगल जाकर लकड़ी काट कर बेचने के लिए विवश है । रोजाना सैकड़ों की संख्या में मजदूरों के जंगल में लकड़ी काटने से अब जंगल के अस्तित्व पर भी खतरा मंडराने लगा है । कुछ महीने में ही यह करीब 400 एकड़ में हजारों की संख्या में पेड़ चुके हैं, लेकिन वन विभाग को देखने की फुर्सत नहीं है । उन्होंने लगातार कटते जंगल को बचाने तत्काल गांव में मनरेगा काम उपलब्ध कराने की मांग की है।
Video by: Shailendra Nag

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned