बेटे के घर आते ही खुशियों से झूम उठा पूरा परिवार, फिर हुआ कुछ ऐसा की पिता की हो गई मौत

बेटे के घर आते ही खुशियों से झूम उठा पूरा परिवार, फिर हुआ कुछ ऐसा की पिता की हो गई मौत

Deepak Sahu | Publish: Aug, 12 2018 01:30:47 PM (IST) Dhamtari, Chhattisgarh, India

एक बेटे ने अपने ही पिता की बेरहमी से हत्या कर दी है

धमतरी. छत्तीसगढ़ के धमतरी जिले में एक बेटे अपने ही पिता की हत्या कर दी। यह मामला मगरलोड ब्लाक के ग्राम मेघा का है जहां संपत्ति विवाद के चलते अपने ही पिता की हत्या करने वाले बेटे को न्यायालय ने उम्रकैद की सजा सुनाई। अर्थदंड की राशि अदा नहीं करने पर उसे अतिरिक्त सजा भी भुगतनी होगी।

संपत्ति बंटवारे पर हुआ विवाद
न्यायालयीन सूत्रों के मुताबिक बीते साल 22 दिसंबर 2017 को वृद्ध ढेलूराम सेन (70) घर में अकेला था, तभी उससे मिलने के लिए अन्य गांव में रहने वाला उसका छोटा बेटा लालजी सेन घर आया। बेटे के आने की खुशी में ढेलूराम ने उसके लिए चाय बनाई, फिर दोनों साथ बैठकर चाय पी रहे थे, तभी लालजी ने संपत्ति बंटवारे की बात छेड़ी।

गुस्से में आकर कर दी हत्या
बताया गया है कि ढेलूराम के बड़े बेटे कुमार सेन की मौत असम में एक सड़क दुर्घटना में हो गई थी, जिसकी बीमा राशि 75 हजार रुपए मिलना था। इस राशि तथा जमीन बंटवारे को लेकर लालजी अपने पिता से उलझ गया। विवाद बढऩे के बाद आक्रोशित होकर लालजी ने अपने पिता पर टंगिए से सिर और गले में जोरदार प्रहार कर दिया, जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद वह पीछे के रास्ते से फरार हो गया। पुलिस ने धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर जब इस हत्याकांड की जांच की, तो कानून का हाथ लालजी तक पहुंच गया। शक के आधार पर उनसे पूछताछ की गई, तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

फैसला एक नजर में
मगरलोड पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर केस डायरी न्यायालय में पेश किया, जहां मामले की अंतिम सुनवाई अपर सत्र न्यायाधीश ग्रेगोरी तिर्की के न्यायालय में हुई। मामले में सभी सबूतों को देखने और गवाहों को सुनने के बाद न्यायालय ने धारा 302 के तहत लालजी सेन को उम्रकैद की सजा सुनाई। साथ ही एक हजार रुपए अर्थदंड से भी दंडित किया। अर्थदंड की राशि अदा नहीं करने पर उसे 3 महीने अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned