छात्रों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रोफेसर की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

छात्रों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रोफेसर की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

Deepak Sahu | Publish: Dec, 08 2018 10:00:00 PM (IST) Dhamtari, Dhamtari, Chhattisgarh, India

छह महीने बीतने के बाद भी यहां एक भी प्रोफेसर की नियुक्ति नहीं की है। ऐसे में आक्रोशित छात्रों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया।

धमतरी. उच्च शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार ने नगर पंचायत आमदी में शासकीय कालेज तो खोल दिया है, लेकिन छह महीने बीतने के बाद भी यहां एक भी प्रोफेसर की नियुक्ति नहीं की है। ऐसे में आक्रोशित छात्रों ने कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया।

शुक्रवार को कालेज में प्रोफेसर की नियुक्ति की मांग को लेकर कलक्ट्रेट में प्रदर्शन करने पहुंचे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रनेता शुभम जायसवाल ने कहा कि फेकल्टी के नाम पर यहां बीए, बीकॉम और बीएससी विषय की सुविधा तो हैं, लेकिन े करीब 240 छात्र-छात्राएं को पढ़ाने के लिए इन विषय के प्रोफेसर नहीं है। इससे समझा जा सकता है कि पढ़ाई का आलम क्या होगा।

एबीवीपी कालेज इकाई अध्यक्ष कौशल साहू ने कहा कि जब रमन सरकार ने आमदी में कालेज की स्थापना की तो आमदी के साथ ही ग्राम सनौद, बोहारा, पलारी, कंवर, रांवा, बगदेही, भोथीपार आदि गांवों के सैकड़ों छात्रों की आंखों में उच्च शिक्षा को लेकर खुशी छा गई, लेकिन यहां सेटअप के अनुसार प्रोफेसर नहीं होने से उनमें घोर निराशा छा गई है। छात्रा अर्चना साहू, खिलेश्वरी साहू, अनीता साहू ने कहा कि पीजी कालेज से रोजाना कुछ अतिथि प्रोफेसर यहां पढ़ाने के लिए आते हैं। ऐसे में उनकी पढ़ाई का स्तर समझा जा सकता है। छात्रों की बातों को गंभीरता से सुनने के बाद कलक्टर ने उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रदर्शनकारियों में विक्की अग्रवाल, जय देवांगन, लालिमा साहू, पूजा साहू, ओमप्रकाश गुप्ता आदि शामिल थे।

...तो करेंगे आंदोलन
नगर मंत्री ओमेश यादव, भूषण सिन्हा ने कहा कि प्रोफेसर की मांग को लेकर बार-बार जिला प्रशासन का दरवाजा खटखटा रहे हैं, लेकिन अब तक कोई पहल नहीं हुई। पखवाड़ेभर के भीतर यदि प्रोफेसरोंं की व्यवस्था नहीं की गई, तो मजबूरी में उन्हें सडक़ में उतर कर आंदोलन करना पड़ेगा।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned