scriptAchhe din of Baghani river is about to start | बाघनी नदी के अच्छे दिन आने की शुरुआत होने वाली है | Patrika News

बाघनी नदी के अच्छे दिन आने की शुरुआत होने वाली है

एसडीएम पहुंचे बाघनी नदी: पत्रिका का नदी हो स्वच्छता अभियान रंग लाया

 

धार

Updated: April 18, 2022 12:22:14 am

प्रदीप अगाल
बाग. बाघनी नदी के अब अच्छे दिन आने की शुरुआत होने वाली है। बरसों से प्रदूषित हो रही बाघनी नदी को लेकर लगातार पत्रिका ने खबरें प्रकाशित कर प्रशासन को जगाया। परिणामस्वरूप अब बाघनी नदी को उसके मूल स्वरूप के साथ नदी के दोनों छोर पर घाट निर्माण सहित सौंदर्यीकरण , पुराने पुल पर बैराज निर्माण करने की बात कुक्षी एसडीएम नवजीवन विजय पंवार ने कही। कलेक्टर के निर्देश पर एसडीएम पवार रविवार दोपहर को बाघनी नदी पर लगे ईंट भट्ठों के मालिकों से मिलकर उन्हें अन्यत्र स्थापित करने को लेकर चर्चा करने पहुंचे थे।
एसडीएम ने कहा 9 माह का समय किसी के लिए कम नहीं होता है । इसलिए अब इन ईंट भट्ठों को तत्काल अन्यत्र स्थापित कर बाघनी नदी को उसके पुराने स्वरूप में लाने में सहयोग करे। रविवार को कुक्षी एसडीएम पंवार, प्रभारी तहसीलदार भावना रावत, पटवारी इंद्रजीत ङ्क्षसह चौहान को लेकर बाघ नदी के छोटे पाट की तरफ पहुंचे वहां उन्होंने ईंट भट्ठों के मालिकों से चर्चा कर सहयोग मांगा । ईंट भट्ठों मालिकों लोकेंद्र प्रजापत, राजू प्रजापत ने कहा कि हम धीरे-धीरे यहां से अपना सामान हटाकर अन्यत्र स्थानांतरित कर रहे हैं।
बच्चों से पूछा तैरते आता है: एसडीएम ने वहां उपस्थित बच्चों को भी पूछा उन्हें तैरते आता और नदी में नहाने की बात पूछी ।
बच्चों ने मना बोला तब एसडीएम ने कहा बिना नदी में पानी बहे इन्हें कैसे पता चलेगा तो दूसरी ओर कहा कि इस नदी के दोनों छोर की ओर घाट निर्माण तथा पुराने पुल पर बैराज निर्माण कर नदी को सुंदर स्वच्छ बनाना है। मेरा यह सपना है कि बाघनी नदी अपने पुराने मूल स्वरूप में लौटे। एसडीएम ने महाराष्ट्र के लोनावाला के भूसी डैम की तरह बाघनी दिखे इसलिए मुझे प्रशासन के साथ जन सहयोग की आवश्यकता होगी।इस लिए नगर नागरिकों, पर्यावरण प्रेमियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं को लेकर थाना प्रभारी कनेश को बैठक की जिम्मेदारी भी सौंपी। एसडीएम पंवार ने पटवारी और नायब तहसीलदार से कहा कि वह इस नदी की पूरी जगह को चिह्नित कर नापतौल कर लें तथा एक.दो दिन में नदी के एक हिस्से की सफाई शुरू करें । उसके बाद क्रमश क्रमवार पूरी नदी की सफाई बारिश के पहले किए जाने की बात कही।
पत्रिका ने लगातार चला रखा है अभियान
बा घनी नदी में घासफूस उगने से लेकर प्रदूषण , कचरे डालने तक कि खबरों को पत्रिका लगातार बीते एक बरस से प्रकाशित कर रहा है।पत्रिका की खबर के बाद धार कलेक्टर डा पंकज जैन , गंधवानी विधायक उमंग ङ्क्षसघार ,भाजपा मंडल अध्यक्ष कैलाश झाबा ने भी नदी को उसके मूल स्वरूप में लाने और प्रदूषण मुक्त नदी बनाने की बात कही थी।

बाघनी नदी के अच्छे दिन आने की शुरुआत होने वाली है
बाघनी नदी पर पहुंचकर ईंट भट्ठों के मालिकों से चर्चा करते एसडीएम।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'अजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.