कलेक्टर कहते हैं रूफ वाटर हार्वेस्टिंग जरूरी, कुक्षी के सरकारी भवनों से बह रहा वर्षा का जल

कलेक्टर कहते हैं रूफ वाटर हार्वेस्टिंग जरूरी, कुक्षी के सरकारी भवनों से बह रहा वर्षा का जल

By: atul porwal

Published: 04 Jul 2019, 12:41 PM IST

प्रदीप अगाल@कुक्षी.
जल संवर्धन और जल संरक्षण के लिए रूफ वाटर हार्वेस्टिंग जरूरी होता है और कलेक्टर भी यही चाहते हैं। चंद दिनों पहले उन्होंने इस पर जोर देते हुए जिले भर के अफसरों को जल संरक्षण में रूफ वाटर हार्वेस्टिंग के बारे में जानकारी भी दी थी। लेकिन कुक्षी तहसील मुख्यालय के सरकारी भवन वर्षा जल जाया कर रहे हैं। रूफ वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को यदि धरातल पर उतारा जाए तो गिरते भूजल स्तर को रोका जा सकता है।
कुक्षी नगर के साथ तहसील मुख्यालय पर स्थित एक नहीं कई कार्यालयों के भवनों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम नहीं लगे हुए हैं। हालांकि कुछ भवन पुराने हैं तो कुछ भवन नए बने हैं। जबकि नियमानुसार हर तरह के सरकारी भवनों में वर्षा जल को सहेजने और जमीन में उतारने की अनिवार्यता है। लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। कुक्षी के तहसील कार्यालय भवन, कृषि विभाग कार्यालय, आरईएस विभाग के भवन के साथ जन जातीय विभाग के परियोजना कार्यालय भवन और जनपद कार्यालय पर भी यह सिस्टम नहीं लगा हुआ है। ये तो सरकारी भवनों की एक बानगी भर है। कुक्षी मुख्यालय पर ऐसे अनेक भवन हैं, जिनमें जल संरक्षण का यह सिस्टम नहीं लगा हुआ है। इस संबंध में कुक्षी एसडीएम बीएस कलेश ने बताया कि यहां के अधिकांश कार्यालय पुराने भवनों में लगते हैं। जब ये भवन बने होंगे तब यह सिस्टम नहीं था। यदि फंड मिलेगा तो हम पुराने भवनों में भी इस सिस्टम को लगवा देंगे।

इस वर्ष सहेज पाएंगे या नहीं वर्षा जल
अभी तो बारिश की शुरूआत हुई है। आने वाले दिनों में झमाझम होना है। ऐसे में सरकारी भवनों का वर्षा जल अभी तो व्यर्थ ही बह रहा है। जिम्मेदार अधिकारी अपने-अपने कार्यालय भवनों पर अब भी रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम फिट करवा लें तो आगे के जल को भूमि में उतारा जा सकता है और कुक्षी क्षेत्र के गिरते भू जल स्तर को बचाया जा सकता है।

atul porwal Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned