अवैध टैंकर को जब्त करके जांच करने की मांग

पेयजल वितरण के लिए कांग्रेस पार्षदों द्वारा लाए गए निजी टैंकर क्रमांक (एमपी-09-केडी-6981) को लेकर भाजपा पार्षदों और भाजपा नेताओं ने बुधवार को पुलिस अधीक्षक के नाम एक शिकायत एएसपी को सौंपी।

धार.
पेयजल वितरण के लिए कांग्रेस पार्षदों द्वारा लाए गए निजी टैंकर क्रमांक (एमपी-09-केडी-6981) को लेकर भाजपा पार्षदों और भाजपा नेताओं ने बुधवार को पुलिस अधीक्षक के नाम एक शिकायत एएसपी को सौंपी। नपा उपाध्यक्ष कालीचरण सोनवानिया, नगर अध्यक्ष अनिल जैन बाबा के नेतृत्व में पार्षदों के दल ने एएसपी से मुलाकात करके शिकायत सौंपी। शिकायत में बताया कि कांग्रेस पार्षदों द्वारा पेयजल वितरण के नाम पर जो टैंकर लाया गया है, आरटीओ में वह टैंकर नंबर ट्रक के नाम पर दर्ज है। इस वाहन का 2015 से फिटनेस और बीमा नहीं है। इसके मालिक के नाम पर थर्ड पार्टी के तौर पर महू के कमलसिंह का नाम दर्ज है। वाहन की संपूर्ण जांच करने की मांग की गई है। भाजपाईयों ने मांग की है कि वाहन संबंधित शिकायत की जांच के पूर्व वाहन को जब्त किया जाए। शिकायत सौंपने के दौरान नेता प्रतिपक्ष अजय फकीरा, पार्षद विपिन राठौर, मनीष प्रधान, भाजपा मीडिया प्रभारी ज्ञानेंद्र त्रिपाठी, भाजपा नेता जयराज देवड़ा, बालकृष्ण चावड़ा व अन्य लोग मौजूद थे।
----------

ग्राम तलवाड़ा में गहराया जल संकट
- हैंडपंप व निजी नलकूपों से ला रहे है पानी
बड़ग्यार/ तलवाड़ा.
निसरपुर विकासखंड के ग्राम तलवाड़ा में एक मात्र ट्यूबवेल में जल स्तर गिरने से ग्रामीणों को पेयजल से संबंधित कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नलजल योजना से भी तीन से चार दिन के अंतराल में पानी मिलने से पूरे गांव में हाहाकार मचा हुआ है। वहीं मवेशियों को पानी पिलाने वाले हलाव में छोड़े नल पर पानी की जुगाड़ में आए ग्रामीण आपस में झगड़ते नजर आ रहे है। वहीं ग्रामीण भीषण गर्मी में निजी नलकूपों व खेतों में स्थित कुओं से पानी लाने को मजबूर है। साथ ही किसानों को गर्मी की फसल में सिंचाई करने के लिए पर्याप्त पानी नहीं होने से मुश्किले आ रही है। जिसकी वजह से ग्रामीणों को पानी के लिए इधर उधर भटकना पड़ रहा है। संसाधनों के अभाव के चलते ग्राम पंचायत के सरपंच की तरफ से हो रहे प्रयास भी विफल होते नजर आ रहे है। गांव में एक मात्र ट्यूबवेल को फ्रेसिंग करवाने के लिए बुलाई बोरिंग मशीन से भी काम नहीं बना। इसके साथ ही नए बोङ्क्षरग के लिए भी प्रयास किए जा रहे है । ग्रामीण महेंद्र सोलंकी, नीलेश पाटीदार, अंतिम माली, संजय विश्वकर्मा का कहना है कि नलजल योजना से जो पानी थोड़ा थोड़ा तीन से चार दिन के अंतराल में मिल रहा है उसे रोजाना कर दिया जाए तो समस्या से निजात मिल सकती है।
ग्राम पंचायत द्वारा नवीन बोरिंग की मांग चार दिन पहले पीएचई विभाग से की थी, लेकिन अभी तक नया बोरिंग नहीं हुआ है। पंचायत के द्वारा जलसंकट से निपटने के प्रयास जारी है।
- शांताबाई जगन्नाथ जामोद, सरपंच, ग्राम पंचायत तलवाड़ा

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned