बंपर आवक से मंडी लबरेज, कर्मचारियों को मिलेगी चुनाव ड्यूटी से छुट्टी

टीएल बैठक : कलेक्टर से मंडी सचिव ने कहा था, चुनावी ड्यूटी से मुक्त करें कर्मचारी

 

By: amit mandloi

Published: 04 Apr 2019, 12:41 AM IST

धार. जिलेभर की मंडियों में मोटी आवक को देखते हुए बुधवार को जिला निर्वाचन अधिकारी व कलेक्टर दीपक सिंह ने टीएल बैठक में मंडी सचिव से पूछा कि कोई परेशानी तो नहीं आ रही। इस पर धार कृषि उपजमंडी सचिव ने कहा कि ज्यादा आवक के कारण मंडी में स्टाफ जरूरी है। उन्होंने कलेक्टर से निवेदन किया कि धार मंडी के ६ कर्मचारियों को चुनावी ड्यूटी से मुक्त कर दें तो काम आसान हो जाएगा।
इस पर कलेक्टर सिंह ने जिले भर के सभी एसडीएम को निर्देशित किया कि चुनावी ड्यूटी से सभी मंडी, खाद्य आपूर्ति निगम, सहकारिता, मार्केटिंग फेडरेशन के कर्मियों को मुक्त किया जाए। सिंह का कहना है कि मंडी सीधे किसानों से जुड़ी है और इन दिनों उपार्जन का कार्य जारी है। ऐसे में किसानों को कोई परेशानी हो वे नहीं चाहते। इसलिए उपार्जन से जुड़े सभी विभागों के कर्मचारियों को चुनावी ड्यूटी से मुक्त किया जाना उचित होगा।
२५ मार्च से उपार्जन शुरू हुआ, जिसकी सबसे ज्यादा भीड़ मंडियों में दिखाई दे रही है। जिले भर में कुल 83 उपार्जन केंद्र हैं, लेकिन अब तक करीब 20 केंद्रों का खाता भी नहीं खुल सका। इसके लिए जिलेभर से ३६ हजार 553 किसानों ने पंजीयन कराया, जबकि मंगलवार तक केवल 767किसानों ने उपार्जन केंद्रों पर रुख किया। मंगलवार तक उपार्जन केंद्रों पर केवल 39 हजार 149क्विंटल गेहूं की खरीदी हो सकी, जबकि केवल धार मंडी में ही 754 पंजीकृत किसानों ने 28 हजार क्विंटल माल नीलाम किया। किसानों की बड़ी भीड़ मंडियों की दौड़ लगा रही है, क्योंकि इस समय गेहूं का भाव अच्छा है। रजिस्टर्ड किसानों को गेहूं पर बोनस भी मिलेगा, जो उनके लिए फायदेमंद है। इन दिनों मंडियों में स्टाफ की कमी दिखाई दे रही है, वहीं कलेक्टर ने चुनावी ड्यूटी के कारण मंडियों में और परेशानी बढऩे की संभावनाएं भांप ली।
हर रोज बारह हजार से ज्यादा आवक
धार मंडी में पिछले एक महीने से हर रोज12 हजार से ज्यादा बोरी आवक हो रही है। ट्रैक्टर ट्रॉलियों से पटी मंडी में परेशानी ना हो इसके लिए मंडी सचिव वीरेंद्र कुमार आर्य ने पूरे इंतजाम कर रखे हैं। हालांकि ज्यादा भीड़ होने पर बुधवार को सचिव ने कलेक्टर से कर्मचारियों की चुनाव ड्यूटी निरस्तर करने किया। धार मंडी के अनुसार 29 मार्च को 17 हजार 91 बोरी की आवक रही, जबकि तीन दिन मंडी बंद रही। 2 अप्रैल को धार मंडी में 16 हजार 939 बोरी की आवक दर्ज की गई। इसको देखते हुए कलेक्टर ने निर्णय लिया कि मंडियों ं के कर्मचारियों को चुनाव ड्यूटी से मुक्त किया जाए।
किसानों की सुविधा भी जरूरी
&उपार्जन से लगे विभागों के स्टाफ को चुनावी ड्यूटी से मुक्त करने के लिए कहा है। इस समय मंडियों में भी भारी आवक है, जिससे किसानों को कोई परेशानी ना हो। इसलिए मंडी कर्मचारी भी चुनाव ड्यूटी से मुक्त होना चाहिए।
-दीपक सिंह, जिला निर्वाचन अधिकारी

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned