पूर्व पार्षद ने 10 लाख देकर वसूले 60 लाख (देखे वीडियो)

सूदखोरी का मामला
दबंगई के आगे हारा किसान खाया सल्फास गंभीर स्थिति में भर्ती

By: Amit S mandloi

Published: 05 Feb 2021, 07:44 PM IST

धार.
सूदखोरी से तंग आकर एक किसान ने जहर खाकर आत्महत्या का प्रयास किया। किसान को गंभीर अवस्था में धार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां से उपचार केबाद उसे इंदौर रैफर कर दिया। किसान ने आत्महत्या के पहले एक सुसाईट नोट भी लिखा है। जिसमें पूर्व पार्षद राजेश चौहान पर पांच रुपए सैकडों की दरसे ब्याज जोडने और प्रताडि़त करने के आरोप लगाए है।

बिलोदा के किसान लाखन मंडलोई ने सल्फास खाकर जान देने काप्रयास किया। बेटे संजय ने बताया कि पिता ने पूर्व पार्षद राजेश चौहान ने किश्तों में 10 लाख रुपए लिए थे। ये लोग एक लाख की 10 हजार रुपए पैनेल्टी वसूल करते थे। ब्याज चुकाने े चक्कर मेंं राजेश चौहान नेअपने रिश्तेदारों से ब्याज चुकाने के नाम पर और कर्ज दिला दिया। संजय ने बताया कि पिता शुक्रवार को खेत पर गए थे। बाद में परिजनों को सूचना मिली कि पिता ने जहर खा लिया है। इसके बाद लाखन को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां से उन्हें इंदौर भेज रैफर किया। संजय ने बताया कि पैसा देने के बाद इन लोगों ने जमीन का पावर अपने नाम करा लिया था। पैसाचुकाने के बाद भी येलोग एग्रीमेंट निरस्त नहीं कर रहे थे। संजय ने बताया कि जब पिता ने सल्फास खाई उस दौरान राजेश का मित्र दीपक खेत पर मौजूद था। दीपक पिताको धमकाने आया था। पिता की तबीयत बिगडती देखकर दीपक मौके से भाग निकला।

ये लिखा सुसाईट नोट में

- चार बीघा जमीन का एग्रीमेंट संजय चावडा , 1.5 बीघा पर राजेश पिता कालूराम चौहान ने उसके साले के नाम पर तीन साल पहले कराया था। जिसका पैसा लाकडाउन में गेहूं बेचकर बाकी पैसा जुलाई में पूरा कर दिया था, लेकिन उसने एग्रीमेंट कैंसल नहीं किया। राजेश चौहान ने अपने पास रख लिया। चेक भी वापस नहीं किए। वापस डबल रुपए की मांग कर रहा है। पांच सैकडे के हिसाब से जोड ले रहा है।

- चार बीघा जमीन का मोहन लाल पिता कालू ने एग्रीमेंट कराया था और पांच रुपए सैकडे से हिसाब से उसका लडका रबी चौहान चार गुना जोडकर मांग रहा है। अगर नहीं दिया तो धमकी देते है। मैंने लाकडाउन में पैसा जमा करवाया था। भगवान बोडाने व उसका भाई चेतराम बोडाने के पास जमीन की लिखा-पडी करवाई और चेक ले लिया। वापस नहीं किया। घर आकर विवाद कर रहे है।
- दो बीघा जमीन का एग्रीमेंट दीपक भारय ने उसकी पत्नी के नाम कराई जो जमीन शामिल खाते में है। जो पांच रुपए सैकडे का ब्याज प्रति माह हिसाब से जोडकर दो गुना पैसा वसूल कर रहे है। हमने छह लाख रुपए जमा करा दिए जिसे मंजूर नहीं कर रहे है।
- लाखनसिंह

पूरी गैंग करती है काम

नगर में सूदखोरी की पूरी गैंग काम कर रही है। ये लोग जरूरत मंद किसानों को पैसा देेते है। इसके बाद डबल पैसा वसूलने के बाद भी इन्हें छोड़ते है। किसानों की जमीनों का एग्रीमेंट ये अपने नाम करा लेते है। शिकायत होने पर ये लोग किसान को एग्रीमेंट दिखाकर झूठा साबित करने से भी पीछे नहीं हटते है। एक व्यक्ति पैसा देकर जमीन का कुछ हिस्से का एग्रीमेंट करा लेते है। ब्याज बढने पर ये पहला व्यक्ति अपनी गैंग के दूसरे सदस्य फिर किसान को ब्याज चुकाने के लिए उधार दिलाता है। किसान इनके चक्रव्यूह में ऐसा फंस जाता है कि वह आत्महत्या कर लेता है।

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned