चार महीने से बीमारी के अवकाश पर चल रहे पूर्व सीएमओ हंसते हुए पुरस्कार लेते दिखे

- सीएमओ से लिपिक बनने के बाद से साढ़े चार महीने से अवकाश पर, बदनावर में चल रहे है उपचुनाव

By: Amit S mandloi

Published: 24 Oct 2020, 11:00 AM IST

पत्रिका एक्सपोज
धार.अमित एस मंडलोई

बीमार हानेे का आवेदन देकर करीब साढ़े चार माह से अवकाश पर चल रहे बदनावर के निवृतमान सीएमओ और लिपिक शुक्रवार को इंदौर में स्वच्छता पुरस्कार लेते नजर आए। कार्यस्थल पर उपस्थित नहीं होने के चलते इनको सीएमओ ने कई नोटिस भी दिए लेकिन बीमारी के चलते कार्यस्थल पर नहींलौटे, हालांकि पुरस्कार लेने के दौरान बीमार के कोई लक्षण नजर नहीं आए। इस संदर्भ में मौजूदा सीएमओ ने वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी भेजी है।
सरकार ने नगर पालिका में सीएमओ का काम देख रहे सभी कर्मचारियों को मूल पद पर भेज दिया। बदनावर से भी सीएमओ का काम देख रहे राजकुमार को मूल पद लिपिक पर कार्य करने के आदेश जारी हुए थे। आदेश जारी होने के बाद उन्होंने आवेदन दिया कि मेरी तबीयत खराब है मैं अवकाश पर रहूंगा। इसके बाद वे साढ़े चार महीने से बदनावर नहीं आ रहे है। इधर उन्होंने अधिकारियों को तबीयत खराब का आवेदन दिया और उधर इंदौर में अपने अधिकारियों को बिना जानकारी दिए जेडी से इनाम ले रहे है।

सरकार के आदेश पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी आशा भंडारी ने 3 जून को पदभार ग्रहण कर लिया था। राजकुमार ठाकुर को लिपिक कम लेखापाल इनके मूल पर कार्य करना था। जानकारी के मुताबिक ये आदेश के बाद से ही अवकाश लेकर चले गए है। चुनाव की आचार सहिता लगने के बाद भी ये काम पर नहीं लौटे है। इस मामले में सीएमओ ने इन्हें समय -समय पर नोटिस भी दिए है। इसके बाद भी ये नहीं आए है। आचार सहिता लगने के बाद भी ये विभाग में नहीं पहुंचे है। जिसके चलते लेखा के कार्य प्रभावित हो रहे है।

शुक्रवार को नजर आए स्वस्थ्य इनाम भी लिया

अधिकारियों को तबीयत खराब का आवेदन देकर ठाकुर आराम करना बता रहे है। वहीं शुक्रवार को इंदौर में एक समारोह के दौरान ये स्वस्थ्य मुद्रा में जेडी अभय राजनगांवकर से स्वच्छता सर्वेक्षण में बदनावर के लिए पुरस्कार लेते नजर आए। जबकि ये पुरस्कार लेने के लिए सीएमओ या संस्था के द्वारा नियुक्ति अधिकारी को जाना था, लेकिन सीएमओ को पता ही नहीं कि ये इंदौर में इनाम ले रहे। सीएमओ को भी जानकारी सोशल मीडिया के माध्यम से मिली तो वे भी चौंक गई।

मुझे सोशल मीडिया के माध्यम से जानकारी मिली है। कार्य स्थल पर नहीं आने के कारण इन्हें समय-समय पर नोटिस भी दिए गए है। इनाम लेने के लिए बदनावर से इन्हें अधिकृत नहीं किया गया था। लिपिक के इस कार्य के लिए उच्चाधिकारी को कार्रवाई के लिए अवगत कराया जाएगा।
आशा भंडारी,सीएमओ बदनावर

स्वच्छता सर्वेक्षण टीम ने फोन लगाकर कहा था कि बदनावर से इनाम लेने के लिए कोई नहीं आया है तो मैं चला गया है। तबीयत खराब होने पर क्या कोई दो किमी भी नहीं जा सकता है। मेेरे परिवार में कोरोना पाजिटिव है मैं परेशान हूं, अलग होम आईसोलेट हूं।
राजकुमार,लिपिक

Amit S mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned