प्रतिभा साबित करने के लिए लड़कियों को मौके और मंच दो

सामूहिक निकाह आयोजन में प्रभारी मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा
पंजेतन कमेटी द्वारा मुख्यमंत्री निकाह योजना अंतर्गत

By: shyam awasthi

Published: 06 Jan 2020, 12:29 AM IST

धरमपुरी. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही सबसे पहले मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना की राशि बढ़ाकर 51 हजार रुपए करने का निर्णय लिया था। गरीब परिवार के लोग अपनी बेटियों की शादी करने के बाद कर्ज के रूप में इतने दब जाते हैं कि कर्ज उतारते-उतारते उनकी पूरी जिंदगी गुजर जाती है। इसलिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सामूहिक विवाह में शामिल जोड़ों को दी जाने वाली राशि बढ़ाई है। लोगों में खुद को एक दूसरे से ज्यादा संपन्न दिखाने की होड़ है। जैसे-जैसे हम तकनीकी युग में पहुंचते जा रहे है, जैसे-जैसे व्यवस्थाएं बढ़ती जा रही हैं वैसे-वैसे चीजों को लेकर हमारी इच्छाएं बढ़ती जा रही है। इसी होड़ में गरीब परिवार कर्ज के बोझ में दब जाता है। इसी कारण अपनी बेटी की शादी में जब गरीब परिवार ज्यादा खर्च करता है तो उसकी आर्थिक व्यवस्था गड़बड़ा जाती है। ऐसे में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह की 51 हजार रुपए की राशि उसके लिए मददगार साबित होती है।
यह बात धार जिले की प्रभारी मंत्री, चिकित्सा शिक्षा एवं संस्कृति मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने पंजेतन कमेटी धरमपुरी द्वारा मुख्यमंत्री निकाह योजना अंतर्गत रविवार को आयोजित सुन्नी इज्तिमाई शादी कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कही। कार्यक्रम में मंच पर विधायक पांचीलाल मेड़ा, कलेक्टर श्रीकांत बनोठ, एसपी आदित्यप्रताप सिंह, जिला कांग्रेस अध्यक्ष बालमुकुंदसिंह गौतम, कांग्रेस नेता मुजीब कुरैशी, भीमसिंह ठाकुर, नप अध्यक्ष शब्बीर पहलवान, उपाध्यक्ष तिलोक पीपले, पार्षद बाबू खान, असलम जमींदार, लाल मोहम्मद शेख आदि उपस्थित थे। इज्तेमाई शादी में धार, इंदौर, खरगोन, बड़वानी, झाबुआ, देवास जिले से मुस्लिम समाज के जोड़े शामिल हुए। इज्तेमाई शादी में मुस्लिम समाज के 34 जोड़ों का निकाह संपन्न हुआ।
पंजेतन कमेटी द्वारा लगातार तीसरे वर्ष सफलतापूर्वक इज्तेमाई शादी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मंचासीन अतिथियों का पुष्पहार से स्वागत किया गया। अतिथियों को स्मृति चिह्न भी प्रदान किए गए। इस अवसर पर विधायक पांचीलाल मेड़ा ने बर्तन खरीदने के लिए मुस्लिम समाज को दो लाख रुपए देने की घोषणा की।
कलेक्टर श्रीकांत बनोठ ने कहा कि पंजेतन कमेटी द्वारा आयोजित इज्तेमाई शादी का कार्यक्रम पहली बार मुख्यमंत्री निकाह योजना से जुड़ा है। इसके पहले दो बार पंजतन कमेटी ने स्वयं ही उक्त आयोजन किया था। मुख्यमंत्री निकाह योजना की 51 हजार रुपए की राशि सीधे दुल्हन के खाते में जाती है। पंजतन कमेटी द्वारा जोड़ों को गृहस्थी का सामान दिया जा रहा है।
दो परिवार सुधारती है लड़कियां
प्रभारी मंत्री विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा कि यदि लड़कियों को समाज तालीम देता है तो लड़कियां दो परिवार सुधारती है, एक वो परिवार सुधारती है जहां लडक़ी की शादी होती है और दूसरा वो परिवार जहां लडक़ी का जन्म होता है। लड़कियों ने हमेशा अपनी उपस्थिति, अपनी पहचान समय-समय पर बताई है। अब आर्मी में भी लड़कियां शामिल हो रही हैं। फाइटर प्लेन भी लड़कियां चला रही है। लड़कियों को अपनी प्रतिभा को साबित करने के लिए मौके दो, मंच दो।पंजेतन कमेटी द्वारा इज्तेमाई शादी में शामिल सभी जोड़ों को दहेज के रूप में गृहस्थी का सामान दिया गया। पंजतन कमेटी ने दहेज में जोड़ों को मसेरी, बिस्तर सेट, गोदरेज आलमारी, स्टील बेड़ा, ओवन, कुकर, कढ़ाई, बड़ी परात, स्टील तपेली सेट, स्टील डिब्बा सेट, जग, ग्लास सेट, सरिया स्टील, कांच का लेमन सेट, कांच का कटोरी सेट, चीनी के चाय का मग का सेट, स्टील का चम्मच सेट, चाय ट्रे आदि सामग्री प्रदान की।
विधायक ने दूल्हों को पहनाए हेलमेट
प्रभारी मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने इज्तेमाई शादी में शामिल दुल्हनों को पौधे भेंट किए। इस अवसर पर विधायक पांचीलाल मेड़ा की तरफ से इज्तेमाई शादी में शामिल सभी दूल्हों को हेलमेट प्रदान किए गए। संचालन प्रेस क्लब अध्यक्ष कैलाश दवाने व डॉ. अजहर खान ने किया। पंजेतन कमेटी की तरफ से आभार अशफाक मौलवी ने माना। वही प्रशासन की तरफ से आभार सीएमओ रामप्रसाद भावरे ने माना।

shyam awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned